Jan २८, २०२२ १२:४४ Asia/Kolkata
  • अबू-धाबी पर यमन के मिसाइल हमलों के वीडियो, सोशल मीडिया पर शेयर करने वालों के ख़िलाफ़ यूएई में होगी कार्यवाही

संयुक्त अरब अमीरात के लोक अभियोजक कार्यालय ने अबू-धाबी पर यमन के अल-हौसी आंदोलन के मिसाइल और ड्रोन हमलों के वीडियो फ़ुटेज सोशल मीडिया पर अपलोड या शेयर करने वाले कई लोगों को तलब किया है।

यूएई की सरकारी न्यूज़ एजेंसी डब्ल्यू.ए.एम की रिपोर्ट के मुताबिक़, अबू-धाबी शासन का मानना है कि इस तरह की वीडियो क्लिप, रणनीतिक और सैन्य प्रतिष्ठानों के साथ-साथ राष्ट्रीय सुरक्षा और स्थिरता के लिए ख़तरा हैं।

लोक अभियोजक कार्यालय ने जनता से ऐसी फ़ुटेज साझा नहीं करने का आग्रह किया है, जिससे देश की सुरक्षा और राष्ट्रीय हितों को नुकसान पहुंच सकता हो।

यूएई के अटॉर्नी-जनरल हमद सैफ़ अल-शम्सी ने ऐसी सामग्री प्रसारित करने के ख़िलाफ़ चेतावनी देते हुए देश के क़ानूनों का पालन करने का आह्वान किया है।

ग़ौरतलब है कि यूएई सऊदी अरब के नेतृत्व वाले उस सैन्य गठबंधन में शामिल है, जो अमरीका के समर्थन से 2015 से यमन पर भीषण हवाई हमले कर रहा है।

17 जनवरी को यमनी बलों ने जवाबी कार्यवाही करते हुए अबू-धाबी एयरपोर्ट, तेल रिफ़ाइनरी और अन्य कई महत्वपूर्ण लक्ष्यों को निशाना बनाया था, जिसके वीडियो सोशल मीडिया पर ख़ूब वायरल हुए थे।

यमन की जवाबी कार्यवाही के बाद सऊदी और अमीराती लड़ाकू विमानों ने यमन के कई इलाक़ों पर भीषण हवाई हमले किए हैं। msm

टैग्स