May २३, २०२२ १३:५१ Asia/Kolkata

फ़िलिस्तीनी गुटों ने इस्राईली आंदोलन काख़ को आतंकवादी गुटों की सूची से निकालने पर आधारित अमरीकी वित्तमंत्रालय के फ़ैसले की आलोचना की है।

अमरीकी सरकार ने इस्राईली शासन का समर्थन जारी रखते हुए आतंकवादियों की सूची से इस्राईली आंदोलन काख़ को निकालने का फ़ैसल किया है।  अमरीका का यह फ़ैसला, वाशिंग्टन द्वारा बैतुल मुक़द्दस पर अवैध क़ब्ज़ा जमाए इस्राईली शासन के समर्थन की एक अन्य निशानी है। इस्राईली आंदोलन काख़, 1994 में अलख़लील शहर में स्थित मस्जिदे इब्राहीमी के जनसंहार का मुख्य ज़िम्मेदार है।

काख़ आंदोलन 90 के दशक के अंतिम वर्षों मे अमरीका में मौजूद मेयर खाना के हाथों गठित हुआ लेकिन उसने खाना पलायन और अपने कुछ समर्थनों के क्षेत्र से निकल जाने के बाद अवैध अधिकृत फ़िलिस्तीन में अपनी राजनैतिक गतिविधियां शुरु कीं। इस कट्टरपंथी इस्राईली आंदोलन ने वर्ष 1971 में अपनी गतिवधियां शुरु कीं।  काख़ हेब्रू भाषा का शब्द है जिसका अर्थ होता है इस तरह से। इस कट्टरपंथी आंदोलन का रवैया सशस्त्र हिंसक रवैया भी है।

अमरीकी सरकार की यह कार्यवाही ऐसी हालत में सामने आई है कि संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद में प्रस्ताव 2332 पास करके बस्तियों के निर्माण की निंदा की गयी और इसको तुरंत रोकने पर बल दिया गया है।  यह एसी हालत में है कि काख़ कट्टरपंथी आंदोलन, बस्तियों के निर्माण को ज़रूरी और अटल सच्चाई क़रार देता है।

एक अन्य बिन्दु यह है कि ज़ायोनी काख़ आंदोलन, फ़िलिस्तीनियों को उनके घरों से निकालने, अपना घर बार छोड़ने पर मजबूर करने और दूसरे देशों में शरण लेने पर बल देता रहा है। इस कट्टरपंथी आंदोलन का यह ख़याल है कि फ़िलिस्तीन पर केवल ज़ायोनियों का ही अधिकार है।  ज़ायोनी शासन ने भी हालिया कुछ महीनों के दौरान फ़िलिस्तीनियों पर कई बार हमले किए और उन्हें अपना घरबार छोड़ने पर मजबूर किया और उनके घर और उनकी संपत्ति को ज़ब्त भी कर लिया।

इसके अलावा इस ज़ायोनी आंदोलन ने हाल ही में ज़ायोनी आतंकी गुटों की फ्लैग डांस रैली के दौरान बैतुल मुक़द्दस के क़ुब्बतुस्सख़रा को तोड़ने की अपील भी की थी। इस आदोंलन की आतंकी और नस्लभेदी प्रवृत्ति को देखते हुए एसा महसूस होता है कि अमरीकी सरकार का समर्थन इस्राईल के प्रति हद से बढ़ गया है और यह पूरी दुनिया विशेषकर क्षेत्र की शांति और सुरक्षा के लिए गंभीर ख़तरा है। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स