May २५, २०२२ ०९:५२ Asia/Kolkata
  • क़ुद्स की तलवार अभी म्यान में नहीं गई है, फ़िलिस्तीनी प्रतिरोधक बलों की इस्राईल को चेतावनी

फ़िलिस्तीनी प्रतिरोधक बलों ने मंगलवार रात एक बयान जारी करके अवैध ज़ायोन शासन को चेतावनी दी है कि अवैध ज़ायोनी कॉलोनी वासियों द्वारा हर दिन मस्जिदुल अक़्सा का किया जाने वाला अनादर वे किसी भी स्थिति में सहन नहीं करेंगे।

समाचार एजेंसी इर्ना की रिपोर्ट के मुताबिक़, फ़िलिस्तीनी प्रतिरोधक बलों ने अपने बयान में इस्राईल को चेतावनी देते हुए कहा है कि तेलअवीव यह अच्छी तरह जान ले कि क़ुद्स की तलवार अभी म्यान में नहीं गई है। बता दें कि रविवार को अवैध ज़ायोनी शासन की एक अदालत ने अपने एक आदेश में अवैध ज़ायोनी कॉलोनी वासियों को इस बात की इजाज़त दी है कि वह मस्दिजुल अक़्सा के प्रांगण में अपने धार्मिक संस्कारों को पूरी आज़ादी के साथ अंजाम दे सकते हैं। ज़ायोनी अदालत के इस फ़ैसले पर फ़िलिस्तीनी प्रतिरोधक बलों ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि तथाकथित ज़ायोनी न्यायलय की ओर से अवैध ज़ायोनी कॉलोनी वासियों को मस्जिदुल अक़्सा के प्रांगण में उनके धार्मिक संस्कारों को अंजाम देने की इजाज़त दिया जाना एक ख़तरनाक फ़ैसला है। फ़िलिस्तीनी प्रतिरोधक बलों ने अपने बयान में कहा है कि इस तरह का फ़ैसला यह हमारे सिद्धांतों और मूल्यों के उल्लंघन को दर्शाता है और साथ ही फ़िलिस्तीनी जनता की भावनाओं को भड़काता है।

मस्जिदुल अक़्सा के प्रांगण में आतंकी इस्राईली सैनिक

इसी तरह फ़िलिस्तीनी प्रतिरोधक बलों ने अवैध ज़ायोनी शासन को क़ुब्बतुस सख़रा या डोम ऑफ़ रॉक को ध्वस्त करने और उसके स्थान पर ज़ायोनियों के उपासना स्थल को बनाने की योजना के बारे में भी कड़ी चेतावनी दी है। प्रतिरोधक बलों ने बल देकर कहा है कि डोम ऑफ द रॉक को नष्ट करने का आह्वान से न केवल फ़िलीस्तीनी राष्ट्र के क्रोध का ज्वालामुखी फुटेगा बल्कि इस्लामी और अरब देशों में भी तुफ़ान आ जाएगा। फ़िलिस्तीनी समूहों ने मस्जिदुल अक़्सा और पवित्र स्थलों की रक्षा के समर्थन और ज़ायोनी साज़िशों को नाकाम बनाने के लिए दुनिया भर के मुसलमानों से एकजुट होकर विरोध-प्रदर्शन करने का आह्वान किया है। (RZ)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

 

 

टैग्स