May २८, २०२२ १४:१२ Asia/Kolkata
  • ज़ायोनी शासन को अब देंगे मिसाइल से अपना संदेशः हमास

फ़िलिस्तीन के इस्लामी प्रतिरोध आन्दोलन हमास के नेता का कहना है कि अवैध ज़ायोनी शासन ने अगर मस्जिदुल अक़सा का अनादर बंद नहीं किया तो फिर हम अपना संदेश मिसाइल के माध्यम से भेजेंगे।

मुशीर अलमिस्री के अनुसार ज़ायोनी शासन यदि मस्जिदुल अक़सा का अनादर जारी रखता है और ध्वज रैली निकालने से नहीं रुकता तो हमारा संदेश फिर दूसरी तरह से इस शासन को दिया जाएगा।

बैतुल मुक़द्दस के प्राचीन क्षेत्र पर अवैध क़ब्ज़े की वर्षगांठ पर ज़ायोनी शासन की ओर से प्रतिवर्ष 10 मई को रैली निकाली जाती है।  ज़ायोनियों का यह मानना है कि पूरा बैतुल मुक़द्दस, ज़ायोनी शासन की राजधानी है जबकि फ़िलिस्तीनियों का यह मानना है कि यह तो फ़िलिस्तीन की राजधानी है।

हमास के नेता का कहना है कि 10 मई को निकाली जाने वाली रैली किसी भी स्थति में स्वीकार्य नहीं है।  उन्होंने कहा कि वे अपनी योजना को लागू करने से बचें क्योंकि प्रतिरोध पूरी तरह से तैयार है और वह केवल एक इशारे के इंतेज़ार में है।

हमास के इस नेता के अनुसार ज़ायोनी शासन के अधिकारियों को अपना राजनैतिक भविष्य बिगाड़ने से पहले आगामी रैली के आयोजन के बारे में पुनर्विचार कर लेना चाहिए।  उन्होंने कहा कि प्रतिरोध का फिर से इम्तेहान न लें तो बेहतर है।

उल्लेखनीय है कि फ़िलिस्तीनी गुटों ने एक बयान जारी करके समस्त फ़िलिस्तीनियों से मांग की है कि वे अगले जुमे को मस्जिदुल अक़सा के प्रांगण में एकत्रित हो जाएं ताकि ज़ायोनियों के हर प्रकार के टकराव का मुक़ाबला किया जा सके।  फ़िलिस्तीन के प्रतिरोध गुटों ने चेतावनी दी है कि ज़ायोनियों की संभावित रैली बारूद के ढेर की तरह है जिससे पूरे क्षेत्र में आग लग जाएगी।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स