Jul ०२, २०२२ १९:१६ Asia/Kolkata
  • क्या यूक्रेन जंग ने भारत- रूस के पुराने रिश्ते प्रभावित कर दिए?

रूस के राष्ट्रपति और भारत के प्रधानमंत्री ने आर्थिक संबंधों को विस्तृत करने और दोनों देशों के बीच रणनिक भागीदारी के बारे में वार्ता की।

हमारे संवाददाता की रिपोर्ट के अनुसार क्रिमलन ने एक बयान में बताया है कि रूसी राष्ट्रपति विलादीमीर पुतीन और भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मास्को और नई दिल्ली के बीच आर्थिक संबंधों और परस्पर संबंधों को विस्तृत करने के बारे में टेलीफ़ोन पर बातचीत की।

रूसी राष्ट्रपति पुतीन ने भारतीय प्रधानमंत्री की अपील पर उन्हें यूक्रेन में रूस के विशेष सैन्य आप्रेशन के मुख्य पहलुओं की सूचना दी। राष्ट्रपति पुतीन ने कीएफ़ और उसके पश्चिमी समर्थकों की ख़तरनाक प्रवृत्ति और भड़काऊ रवैये को संकट में वृद्धि का कारण और इस संकट के कूटनयिक और राजनैतिक समाधान  के लिए जारी प्रयासों में रुकावट क़रार दिया।

विलादीमीर पुतीन और नरेन्द्र मोदी ने खाद्य पदार्थों के अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार की वर्तमान स्थिति के बारे में भी विचार विमर्श किया।

रूसी राष्ट्रपति विलादीमीर पुतीन ने कुछ देशों की टारगेटेड मिस्टेक की ओर इशारा करते हुए बल दिया कि यह मामला खाद्य पदार्थों के आज़ाद व्यापार की व्यवस्था में विघ्न डालने और मूल्यों में असमान वृद्धि का कारण बना है।

भारतीय प्रधानमंत्री के कार्यालय ने भी एलान किया है कि नरेन्द्र मोदी ने रूसी राष्ट्रपति विलादीमीर पुतीन से यूक्रेन की स्थिति पर वार्ता की और एक बार फिर इस संकट को वार्ता और कूटनीति द्वारा हल किए जाने पर आधारित भारत के स्थाई दृष्टिकोण पर बल दिया। (AK)   

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स