Jul २६, २०२२ १९:४४ Asia/Kolkata
  • सैयद हसन नसरुल्लाह का बयान साबित हुआ ख़ुलासों का पिटारा, पूरे इस्राईल में भूकंप जैसे हालात

हिज़्बुल्लाह आंदोलन के प्रमुख सैयद हसन नसरुल्लाह ने एक बयान दिया जिससे इस्राईल में भारी हड़कंप मच गया है। वैसे सैयद हसन नसरुल्लाह के हर बयान को इस्राईल में राजनैतिक और प्रचारिक गलियारों के लिए आम लोग भी बड़े ग़ौर से सुनते और देखते हैं।

इस बयान के बाद इस्राईल में यह चिंता फैल गई है कि हालात अब यह हो गए हैं कि इस्राईल काई भी चप्पा हिज़्बुल्लाह के मिसाइलों और ड्रोन विमानों से सुरक्षित नहीं है।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने प्रतिरोध की शुरुआत के दिनों को याद करते हुए कहा कि 1985 में प्रतिरोध शुरू हुआ र उस समय इस्राईल को लेबनान के बहुत से उन इलाक़ों से बाहर निकलना पड़ा जिन पर उसने क़ब्ज़ा कर लिया था। इसके बाद प्रतिरोध के दूसरे चरण की शुरुआत 1993 में हुई और यह चरण 1996 तक चला। इस दौर में प्रतिरोध की ताक़त नई बुलंदियों पर पहुंच गई। 1996 से 2000 के बीच हिज़्बुल्लाह ने अपने जिस प्रतिरोध की ताक़त दिखाई उसने इस्राईल को यह समझा दिया कि यह लड़ाई आसान नहीं है। 2000 में इस्राईल को लेबनानी इलाक़ों से बाहर निकलना पड़ा। इसके बाद 2006 की 33 दिवसीय जंग हुई जिसके बाद से इस्राईल लेबनान पर हमले का साहस खो चुका है।

इस समय इस्राईल लेबनान की गैस फ़ील्ड से गैस निकालने की कोशिश में है कारण यह है कि युक्रेन जंग हो जाने के बाद अमरीका और यूरोप गैस के वैकल्पिक मार्ग तलाश कर रहे हैं। इस समय यूरोप और अमरीका की कोशिश है कि मध्यपूर्व में कोई नई जंग शुरू न हो वरना उनके लिए तेल और गैस हालिस कर पाना असंभव हो जाएगा। अब यही समय है कि हम अपने तेल व गैस के संसाधन इस्राईल के ग़ैर क़ानूनी क़ब्ज़े से आज़ाद करवा लेंगे और कोई भी हमें रोक नहीं पाएगा।

इस समय इस्राईल में कोई जगह एसी नहीं है जहां हमारे मिसाइल न पहुंच सकते हों इसलिए यही समय है कि हम अपने उन सारे इलाक़ों को इस्राईली क़ब्ज़े से आज़ाद करा लें जिन्हें इस्राईल ने हड़प रखा है।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि इस्राईल को हम चेतावनी दे चुके हैं कि अगर उसने हड़पे गए इलाक़ों से तेल और गैस निकालने की कोशिश की तो उसके लिए समस्या पैदा हो जाएगी। हम चाहते हैं कि लेबनान अपना तेल और गैस निकाले और बेचे, इसी रास्ते से वह आर्थिक संकट से ख़ुद को निजात दिला सकता है।

हिज़्बुल्लाह के ड्रोन विमानों ने भी हालिया समय में बड़ी सुर्खियां बटोरी हैं। ड्रोन विमानों के बारे में सैयद हसन नसरुल्लाह का कहना था कि हमारे पास एसे ड्रोन भी हैं जो इस्राईली इलाक़ों के ऊपर जाकर वापस भी आ जाएंगे और दुश्मन उन्हें गिरा नहीं पाएगा। पिछले वर्षों में हमारे दर्जनों ड्रोन इस्राईल के भीतर गए और अपना मिशन पूरा करके वापस आ गए इस्राईल उन्हें गिरा नहीं पाया। कभी कभी हम जान बूझकर वे ड्रोन भेजते हैं जिन्हें दुश्मन देख ले और निशाना बना ले क्योंकि इस मिशन का अपना अलग लक्ष्य होता है जिसे पूरा किया जाता है।

 हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें

टैग्स