Sep १२, २०२२ ०९:२१ Asia/Kolkata

उत्तरी इराक़ में एक अवैध तुर्की छावनी को हमलों का निशाना बनाया गया है।

मीडिया सूत्रों ने बताया है कि उत्तरी इराक़ में एक तुर्की सैन्य अड्डे पर कोंकुर्स मिज़ाइल से हमला किया गया था।

फ़ार्स न्यूज़ एजेंसी के अनुसार, इराक़ी मीडिया सूत्रों ने उत्तरी इराक में तुर्की के एक सैन्य बेस पर एक नए मिज़ाइल हमले की सूचना दी है।

"साबेरीन" टेलीग्राम चैनल के अनुसार, रविवार उत्तरी इराक़ में तुर्की के सैन्य ठिकानों में से एक को एक बार फिर "कोंकुर्स" गाइडेड मिज़ाइल से निशाना बनाया गया।

इससे पहले 31 अगस्त को पहली बार इराक के उत्तर में स्थित दहूक प्रांत में तुर्की के सैन्य अड्डे "बमरनी" पर हमले की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं।

कोंकुर्स एक एंटी-आर्मर वॉरहेड से लैस है जिसमें चार किलोमीटर तक की सीमा के साथ एक उच्च विस्फोटक क्षमता है, जिसे 200 मीटर प्रति सेकंड के गति से दाग़ा जा सकता है।

किसी भी गुट ने अभी तक उत्तरी इराक में तुर्की के सैन्य अड्डे पर आज के हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन हमले का एक वीडियो "कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी" गुट से संबंध रखने वाले "गुरिल्ला टीवी" चैनल द्वारा जारी किया गया था।

तुर्की सेना का दावा है कि कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी (पीकेके) से लड़ने के लिए उत्तरी इराक में उसकी सैन्य उपस्थिति है, लेकिन बगदाद सरकार उपस्थिति को ग़ैर क़ानूनी क़ब्ज़ा और इराक की क्षेत्रीय अखंडता का उल्लंघन कहती है। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें

 

टैग्स