Sep २८, २०२२ १५:२० Asia/Kolkata

सऊदी अरब के युवराज मुहम्मद बिन सलमान को देश का प्रधानमंत्री बना दिया गया है।

सऊदी नरेश सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ ने आदेश जारी करके अपने बेटे मुहम्मद बिन सलमान को आधिकारिक रूप में सऊदी अरब का प्रधानमंत्री नियुक्त कर दिया है।

सऊदी नरेश ने अपने छोटे बेटे ख़ालिद बिन सलमान को सऊदी अरब का रक्षामंत्री बना दिया। सऊदी अरब की सरकारी समाचार एजेन्सी के अनुसार देश के शासक के राजकीय आदेश के अनुसार दूसरे अन्य मंत्रियों को उन्हीं के स्थान पर बाक़ी रखा गया है।

लंबे समय तक सऊदी अरब के रक्षामंत्री का पदभार संभालने वाले इस देश के युवराज मुहम्मद बिन सलमान सन 2017 से इस पद पर आसीन हैं। याद रहे कि सऊदी अरब के वर्तमान शासन सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ 86 वर्ष के हैं जिनके स्वास्थ्य को लेकर कई बार विरोधाभासी ख़बरे आती रही हैं।

इन परिवर्तनों में सऊदी अरब की सत्ता में किंग सलमान के बच्चों की भूमिक और भी बढ़ गयी है। मुहम्मद बिन सलमान जो सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस हैं, मंत्रिपरिषद के प्रमुख बने, जबकि सऊदी अरब के मंत्रिपरिषद के प्रमुख का पद पहले इस देश के राजा के पास होता था, जिसे सर्वोच्च पद माना जाता है।

इसके अलावा ख़ालिद बिन सलमान को सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस के पद पर भी नियुक्त किया गया जबकि इससे पहले यह पद मुहम्मद बिन सलमान के पास था।

दूसरे शब्दों में इन परिवर्तनों के साथ, सत्ता में अब्दुल अज़ीज के बच्चों की भूमिका कम हो गई है जबकि सऊदी अरब, सलमान के बच्चों को सत्ता सौंपने की ओर बढ़ रहा है।

ये बदलाव मुहम्मद बिन सलमान की इच्छा के अनुसार किए गए हैं। पिछले 7 वर्षों में मुहम्मद बिन सलमान का रुझान सऊदी अरब की सत्ता में अपनी पैठ बनाने में रहा है जो इससे पहले तक कम व्यक्तियों के साथ हुआ था।

वह 30 वर्ष की आयु में रक्षा मंत्री, 31 वर्ष की आयु में उप क्राउन प्रिंस और 32 वर्ष की आयु में क्राउन प्रिंस बने। इन परिवर्तनों के साथ, मुहम्मद बिन सलमान सऊदी अरब के शासक हैं और नए आदेशों के साथ सऊदी अरब की शक्ति संरचना में बिन सलमान की स्थिति मज़बूत हो गई।

दरअसल 86 साल के किंग सलमान के बुढ़ापे ने मुहम्मद बिन सलमान की महत्वाकांक्षाओं और सलमान के बच्चों को सत्ता के हस्तांतरण का मार्ग प्रशस्त किया है। नए परिवर्तनों के बारे में सऊदी सरकार के अधिकारियों में से एक का कहना है कि मंत्रिपरिषद के प्रमुख के रूप में मुहम्मद बिन सलमान की नई भूमिका उन्हें शाही ज़िम्मेदारियां देने की प्रक्रिया के अनुरूप है जिसमें विदेश यात्राओं में राज्य का प्रतिनिधित्व करना और अध्यक्षता करना शामिल है। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए 

फेसबुक पर हमारे पेज को लाइक करें 

टैग्स