Nov ११, २०१९ १७:०४ Asia/Kolkata
  • ईरान बैठकर इंतज़ार नहीं करेगा कि इस्राईल में सरकार का गठन हो तो उसपर हमला किया जाए, इस्राईली मंत्री

इस्राईल के एक कैबिनेट मंत्री ने ज़ायोनी राजनेताओं को चेतावनी देते हुए कहा है कि ईरान को अगर इस्राईल पर हमला करना होगा तो वह ज़ायोनी सरकार के गठन का इंतज़ार नहीं करता रहेगा।

इस्राईली मंत्री युवल स्टाइनिट्ज़ का कहना थाः पिछले कुछ महीनों से ईरान एक एक क़दम करके आगे बढ़ रहा है, यहां तक कि उसकी परमाणु क्षमताएं उसकी परमाणु शक्ति को मज़बूत बना रही हैं, लेकिन एक राष्ट्रीय सरकार के गठन का गठन करके इस चुनौती से निपटने के बजाए हम हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं और बस इंतज़ार करते जा रहे हैं।

इस्राईल नेशन्ल न्यूज़ की रिपोर्ट के मुताबिक़, स्टाइनिट्ज़ का कहना था कि इस्राईलियों को अपने राजनीतिक मतभेदों को भुलाकर एक सरकार के गठन की इस वक़्त किसी भी वक़्त से ज़्यादा ज़रूरत है।

यहां ग़ौरतलब बात यह है कि यह वही इस्राईल है, जो कुछ महीनों पहले तक मध्यपूर्व और विश्व में कहीं भी ख़तरे की बात कहकर वहां हमले की धमकी देता था, लेकिन पिछले कुछ महीनों के दौरान क्षेत्र में शक्ति का संतुलन कुछ ऐसा बदला है कि ज़ायोनी अधिकारी धमकियों के बजाए गिड़गिड़ाते नज़र आ रहे हैं।

पिछले दिनों मध्यपूर्व में दो घटनाएं ऐसी घटी हैं, जिसके बाद से क्षेत्रीय महाशक्ति होने का इस्राईल का मिथक चकनाचूर हो गया है। जून में ईरान द्वारा अमरीका के आधुनिकतम ड्रोन विमान ग्लोबल हॉक को मार गिराए जाने और सितम्बर में सऊदी तेल प्रतिष्ठानों पर भीषण हवाई हमलों के बाद इस्राईल काफ़ी सहमा हुआ है।

हालांकि सऊदी तेल कंपनी अरामको पर हमलों की ज़िम्मेदारी यमनी स्वयं सेवी बलों ने स्वीकार की थी, लेकिन अमरीका और इस्राईल का दावा है कि इस तरह के हमले केवल ईरान ही कर सकता है।

यहां दिलचस्प बात यह है कि इस्राईल के अवैध अस्तित्व की समाप्ति की दूसरों के बजाए ख़ुद इस्राईली उल्टी गिनती गिन रहे हैं। उन्हें यह विश्वास हो गया है कि जैसे जैसे क्षेत्र में ईरान का प्रभाव बढ़ता जाएगा उनके पास बोरिया बिस्तरा बांधने के अलावा और कोई विकल्प नहीं होगा। msm

टैग्स

कमेंट्स