Nov १२, २०१९ २०:२० Asia/Kolkata

अमरीका ने अपने बयान में इराक़ में समय से पहले चुनाव कराने की मांग पर आधारित हस्तक्षेपपूर्ण बयान दिया जिस पर इराक़ी दलों में गहरी नाराज़गी है।

वरिष्ठ धर्मगुरु और देश के नेताओं का कहना है कि सरकार प्रदर्शनकारियों की मांगे पूरी करे लेकिन साथ ही बाहरी शक्तियों से कहा कि वह हस्तक्षेप से बाज़ आ जाएं। 

टैग्स

कमेंट्स