Nov २०, २०१९ २०:४० Asia/Kolkata

इस्राईल ने सीरिया में ईरानी और सीरियाई सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने का दावा किया है।

ग़ौरतलब है कि बुधवार को इससे पहले सीरिया ने कहा था कि उसके एयर डिफ़ेंस ने दुश्मन के मिसाइलों को लक्ष्य पर लगने से पहले ही नष्ट कर दिया है।

इस्राईली सेना ने हमले की पुष्टि करते हुए दावा किया कि बुधवार की रात उसके लड़ाकू विमानों ने सीरियाई और ईरानी सैन्य ठिकानों पर मिसाइल दाग़े हैं।

इस्राईली सेना का यह भी दावा है कि मंगलवार को ईरानी फ़ोर्सेज़ ने अवैध अधिकृत इलाक़ों पर चार मिसाइल फ़ायर किए थे, जिसके जवाब में बुधवार को दमिश्क़ पर मिसाइल फ़ायर किए गए।

वहीं सीरियाई सेना का कहना है कि उसने इस्राईली लड़ाकू विमानों से फ़ायर किए गए अधिकांश मिसाइलों को हवा में ही नष्ट कर दिया।

सीरियाई समाचार एजेंसी साना की रिपोर्ट के मुताबिक़, इस्राईली हमले में दो आम नागरिकों की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गए।

एजेंसी का कहना है कि इस्राईली लड़ाकू विमानों ने रात को 1 बजकर 20 मिनट पर दो दिशाओं अवैध अधिकृत गोलान और लेबनान के मरजेयून से दमिश्क़ के निकट मिसाइलों से हमला किया। तुरंत ही सीरियाई एयर डिफ़ेंस ने हमले को नाकाम बनाते हुए मिसाइलों को हवा में ही उड़ा दिया।

रिपोर्ट में कहा गया है कि नष्ट होने वाले मिसाइलों का एक हिस्सा दमिश्क़ के दक्षिण में स्थित एक घर पर जाकर गिरा, जिसके कारण घर में मौजूद दो आम नागरिकों की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गए, जिन्हें नज़दीक के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ग़ौरतलब है कि जब से सीरिया और इराक़ में दाइश और अन्य आतंकवादी गुटों की पराजय हुई है, इस्लामी प्रतिरोधी मोर्चे की बढ़ती ताक़त को लेकर इस्राईल में भारी तनाव है।

इसके अलावा, जून में ईरान द्वारा अमरीका के सबसे आधुनिक ड्रोन विमान को मार गिराए जाने और सितम्बर में यमन द्वारा सऊदी अरब के तेल प्रतिष्ठानों पर भीषण हवाई हमलों के बाद से इस्राईल क्षेत्र में ख़ुद को हर ओर से घिरा हुआ देख रहा है।

विशेषज्ञों का कहना है कि इस्राईल द्वारा ग़ज्ज़ा और सीरिया पर हालिया हमले बुझते हुए चिराग़ की तरह हैं, जो बुझने से पहले फड़फड़ाता है। msm

टैग्स

कमेंट्स