Jan २२, २०२० १३:३३ Asia/Kolkata
  • ... तो इराक़ी राष्ट्रपति को राजधानी बगदाद से ही निकाल दिया जाएगा ... स्वंय सेवी बल की चेतावनी...

इराक़ के स्वंय सेवी बल हश्दुश्शाबी के संगठन, कताइब हिज़्बुल्लाह और अन्नुजबा ने अलग - अलग बयान जारी करके कहा है कि अगर वह अमरीका के आतंकवादी राष्ट्रपति ट्रम्प से मिले तो उन्हें बगदाद से बाहर निकाल दिया जाएगा।

यह दोनों संगठन, इराक़ के स्वंय सेवी बल " हश्दुश्शाबी " का हिस्सा हैं जिसके डिप्टी कमांडर अबू मेहदी अलमुहंदिस को अमरीका ने बगदाद हवाई अड्डे पर ईरान के जनरल क़ासिम सुलैमानी के साथ शहीद कर दिया था। 

इन संगठनों ने बयान जारी करके दावोस में चल रहे विश्व आर्थिक सम्मेलन के अवसर पर इराक़ के राष्ट्रपति बरहम सालेह और अमरीकी राष्ट्रपति ट्रम्प की मुलाक़ात की ओर से चेतावनी दी है। 

कताइब हिज़्बुल्लाह के सुरक्षा अधिकारी, अबू अली अलअस्करी ने इराक़ी राष्ट्रपति बरहम सालेह के नाम एक संदेश में कहा है कि मूर्ख हत्यारे ट्रम्प और उनकी मंडली से राष्ट्रपति बरहम सालेह की भेंट न होने को सुनिश्चित किये जाने की मांग करते हैं और अगर इसके अतिरिक्त कुछ हुआ तो इराक़ी जनता, इस मंडली के हाथों पवित्र खून बहाए जाने की वजह से, अगला क़दम उठाएगी। 

उन्होंने कहा कि उस समय हम राष्ट्रपति का स्वागत नहीं करेंगे और इराक़ी जनता, उन्हें राजधानी बगदाद से बाहर निकालने के लिए क़दम उठाएगी। 

स्वंय सेवी बल हश्दुश्शाबी के अन्य घटक, अन्नुजबा ने भी इराक़ी राष्ट्रपति से मांग की है कि वह ट्रम्प से भेंट न करें। 

इस संगठन ने एक बयान जारी करके कहा है कि देश की संवेदनशील परिस्थितियों में और एेसे समय में कि जब अमरीका ने सभी कूटनैतिक व अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन करते हुए इरका़ के उन बहादुर सपूतों का खून बहाया है जिन्होंने अपने देश के लिए बहुत बलिदान दिया था, हमने सुना है कि हमारे राष्ट्रपति, दावोस सम्मेलन के अवसर पर, ट्रम्प से भेंट का मन बना रहे हैं। 

बयान में कहा गया है कि बड़ी हैरत की बात है कि अवैध रूप से देश में उपस्थित अमरीकी सैनिकों को देश से निकालने का फैसला करने वाली  इराक़ी जनता और संसद के  प्रतिनिधि के रूप में राष्ट्रपति उस देश के राष्ट्रपति के साथ वार्ता की मेज़ पर बैठना चाहते हैं जिसने उनके देश पर क़ब्ज़ा कर रखा है और दुस्साहस व गुंंडागर्दी के साथ, संसद के फैसले के बावजूद इराक़ छोड़ने से इन्कार कर रहा है। 

बयान में कहा गया है कि हमारी समझ में नहीं आता कि आप कैसे उस व्यक्ति से हाथ मिलाएंगे जिसके हाथ हमारे कमांडरों के खून से रंगे हैं और अगर इराक़ी राष्ट्रपति एेसा करते हैं तो फिर हम उनका स्वागत नहीं करेंगे  Q.A.

टैग्स

कमेंट्स