Jan २२, २०२० १८:३८ Asia/Kolkata

.... इस सप्ताह तकफ़ीरी आतंकवादियों के रॉकेट हमलों की शिकार लड़कियों की संख्या कम नहीं थी। हलांकि कि प्रतिरोध आंदोलनों और सीरियाई सेना ने आतंकवादियों के कई महत्वपूर्ण ठिकानों पर जवाबी हमला किया है लेकिन रोक़य्या जैसी बेटियों की चिंता उस समय दूर होगी कि जब आतंकवादी इदलिब प्रांत और हलब के पश्चिमी क्षेत्रों से पूरी तरह ख़त्म हो जाएं।

टैग्स

कमेंट्स