Feb १०, २०२० १७:०० Asia/Kolkata

महिलाएं और पुरुष, मताएं और पिता, बूढ़े और युवा, आधी रात में घंटों से यहां पर बैठे हुए हैं, ताकि ज़ायोनी शासन के जेलों में क़ैद अपने बच्चों की एक झलक देखने को मिल जाए, हम भी अपने कैमरे के साथ उनके पीछे चल दिए, ताकि रेड क्रास के कार्यालय से लेकर इस्राईल के रिमून जेल तक उनको पेश आने वाली परेशानियों को आपके सामने पेश कर सकें।

टैग्स

कमेंट्स