Feb १४, २०२० २१:३७ Asia/Kolkata
  • सीरिया में अमेरिका के आतंकी सैनिकों के ख़िलाफ़ जनता का आंदोलन शुरू

सीरिया में एक ओर जहां सीरियाई सेना लगातार आतंकियों के अंतिम गढ़ इदलिब की ओर बढ़ रही है वहीं दूसरी ओर हस्का प्रांत के गवर्नर ने इस प्रांत के विभिन्न इलाक़ों से जनता की ओर से अमेरिकी सैनिकों के ख़िलाफ़ की जा रही कार्यवाही, “अमेरिकी सैनिकों देश से निकाल फेंकने”, को जन-प्रतिरोध आंदोलन का नाम दिया है।

समाचार एजेंसी फ़ार्स की रिपोर्ट के मुताबिक़, सीरिया के उत्तर-पूर्वी प्रांत हस्का के गवर्नर “जाएज़ अल-हमूद अल-मूसा” ने कहा है कि, हस्का प्रांत के विभिन्न इलाक़ों की जनता, अमेरिकी सेना को अपने देश से निकालने के लिए प्रतिरोध आरंभ कर दिया है। इन सभी लोगों की एक ही मांग है कि, अमेरिकी सैनिक उनका देश छोड़कर चले जाएं। उन्होंने बताया कि, हस्का प्रांत के क़ामिश्ली शहर के उपनगरीय क्षेत्रों के निवासियों ने बुधवार को अमेरिका के आतंकी सैनिकों के ख़िलाफ़ कार्यवाही भी की थी।

 

प्राप्त जानकारी के अनुसारस, आम नागरिकों द्वारा की गई कार्यवाही में “ख़र्बा अमू” और “बुवैर अलबूआसी” नामक गांव के लोगों ने अमेरिकी सैनिकों की बख़्तरबंद गाड़ियों को उस क्षेत्र से नहीं गुज़रने दिया और साथ ही चार गाड़ियों को क्षति भी पहुंची है। इस बीच आम जनता के विरोध का दबाने के लिए अमेरिका के आतंकी सैनिकों ने जनता की ओर फ़ायरिंग कर दी, जिसके नतीजे में एक आम नागरिक की मौत हो गई। याद रहे कि इस क्षेत्र के लोगों ने इससे पहले भी कई बार अमेरिका के आतंकी सैनिकों की बख़्तरबंद गाड़ियों को नहीं गुज़रने दिया था। इस इलाक़े के लोग लगातार अमेरिकी सैनिकों की सीरिया में उपस्थिति के विरोध में प्रदर्शन करते आए हैं। (RZ)

 

 

 

टैग्स

कमेंट्स