Mar ३०, २०२० २२:५५ Asia/Kolkata
  • यमन, मंसूर हादी की सेना रेत की दीवार साबित हुई, अहम सैन्य कैंप पर यमनी जवानों का नियंत्रण

यमन की सेना और स्वयं सेवी बलों ने अपनी प्रगति का क्रम जारी रखते हुए अलजौफ़ और मआरिब प्रांतों के बीच एक महत्वपूर्ण सैन्य कैंप को अपने नियंत्रण में ले लिया है।

लेबनान के अलमयादीन टीवी चैनल की रिपोर्ट के अनुसार यमन की सेना के एक सूत्र ने बताया कि देश की सेना और स्वयं सेवी बलों ने अलजौफ़ और मआरिब प्रांत के बीच स्थित अलबेनात रणनैतिक कैंप पर पूर्ण नियंत्रण कर लिया है।  

अलबेनात कैंप यमन की त्यागपत्र दे चुकी सरकार के सैनिकों का सबसे बड़ा कैंप समझा जाता है। यमनी सेना को यह सफलता अलजौफ़ प्रांत के केन्द्र अलहज़्म के पूर्वी क्षेत्र अलमराज़ीक़ पर नियंत्रण प्राप्त करने के बाद हासिल हुई है।

यमन की सशस्त्र सेना के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल यहिया सरी ने 18 मार्च को नये सैन्य आप्रेशन में अलजौफ़ प्रांत की पूर्ण स्वतंत्रता की सूचना दी थी।

विशेषज्ञों का कहना है कि वर्तमान युद्ध में जिसके पास अलजौफ़ का नियंत्रण होगा उसी के हाथ में यमन के पांच मुख्य प्रांत उमरान, सनआ, मआरिब, हज़रमूत और सादा का भी नियंत्रण होगा। (AK)

कमेंट्स