Apr ०८, २०२० ०७:१६ Asia/Kolkata
  • इस्राईल, मानवता के अंतिम मुक्तिदाता इमाम महदी के ज़ाहिर होने से डरा हुआ हैः हसन नसरुल्लाह

लेबनान के हिज़्बुल्लाह संगठन के महासचिव ने कहा है कि इस्राईल को इस बात की चिंता सता रही है कि वह 80 साल से ज़्यादा फ़िलिस्तीन पर शासन नहीं कर पाएगा।

सय्यद हसन नसरुल्लाह ने मानवता को मुक्ति दिलाने वाले अंतिम मुक्तिदाता हज़रत इमाम महदी अलैहिस्सलाम के शुभ जन्म दिवस के संबंध में बैरूत में एक भाषण में इस बात का ज़िक्र किया कि किस तरह इस्राईल इमाम महदी के प्रकट होने की ओर से चिंतित है। उन्होंने कहा कि फ़िलिस्तीन पर क़ब्ज़ा किए हुए इस्राईल को इस बात की चिंता सता रही है कि उसका राजनैतिक वजूद 80 साल से ज़्यादा नहीं चलेगा।

इरना के मुताबिक़, सय्यद हसन नसरुल्लाह ने इमाम महदी अलैहिस्सलाम के शुभ जन्म दिवस की बधाई देते हुए इसे ईश्वरीय वादे के पूरा होने की उलटी गिन्ती शुरु होने की उपमा दी। उन्होंने कहा कि इमाम महदी अपने पावन वजूद से दुनिया को न्याय व प्रेम से भर देंगे।

हिज़्बुल्लाह के महासचिव ने इराक़ के पूर्व तानाशाह सद्दाम द्वारा इस देश के वरिष्ठ धर्मगुरु व बुद्धिजीवी आयतुल्लाह मोहम्मद बाक़िर सद्र और उनकी बहन को शहीद किए जाने की बरसी पर संवेदना प्रकट की और उन्हें एक महान दार्शनिक व विद्वान के रूप में याद किया।

उन्होंने शहीद सद्र के ईरान की इस्लामी क्रान्ति और क्रान्ति के संस्थापक इमाम ख़ुमैनी के बारे में एक कथन का हवाला दिया और कहा कि शहीद सद्र ने जब देखा कि ईरान की इस्लामी क्रान्ति सफल हो गयी तो कहा थाः इमाम ख़ुमैनी ने वह काम किया जिसे ईश्वरीय दूत अंजाम देना चाहते थे।

ज्ञात रहे इमाम महदी अलैहिस्सलाम का शुभ जन्म दिवस 15 शाबान बराबर 9 अप्रैल को है।(MAQ/N)

 

कमेंट्स