May ३१, २०२० २२:२८ Asia/Kolkata
  • अब कहां है मानवाधिकारों के रक्षक, मिनापोलिस की घटना पर इराक़ी सांसद की प्रतिक्रिया

इराक़ के एक सांसद ने कहा है कि मानवाधिकारों की सुरक्षा का ढिंढोरा पीटने वाले अब कहां चले गए।

इराक़ी सांसद अर्रेकाबी ने अमरीका के मिनापोलिस में एक निहत्थे अश्वेत की अमरीकी पुलिस के हाथों निर्मम हत्या का उल्लेख करते हुए कहा कि दूसरे देशों में मानवाधिकारों पर लंबे-लंबे भाषण देने वालों को पता होना चाहिए कि अमरीका में क्या हो रहा है।  उन्होंने कहा कि अमरीका के विभिन्न नगरों में होने वाले विरोध प्रदर्शनों की सूचना शायद वाइट हाउस तक पहुंची होगी।

इराक़ी सांसद ने कहा कि अमरीका की वर्तमान घटनाएं इस के झूठे लोकतंत्र और झूठी आज़ादी को बयान कर रही हैं।  उन्होंने कहा कि अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाओं और बड़े देशों के अधिकारियों ने इस घटना की भर्त्सना में खुलकर बयान जारी इसलिए नहीं किये क्योंकि उनके आर्थिक हित वाशिग्टन से जुड़े हुए हैं।

ज्ञात रहे कि पिछले हफ़्ते अमरीका के मिनेसोटा राज्य के मिनियापोलिस शहर में एक काले व्यक्ति जॉर्ज फ़्लॉयड को गिरफ़्तार करने गए पुलिस अधिकारियों में से एक गोरे पुलिस अधिकारी डेरेक चॉविन ने पीड़ित अश्वेत को सड़क पर गिरा दिया और उनकी गर्दन पर घुटना रखकर उस समय तक दबाए रखा जबतक वह मर नहीं गया।  इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद पिछले कई दिनों से अमरीका के कई नगरों में प्रदर्शन चल रहे हैं।  अमरीकी राज्य मिनेसोटा की राजधानी मिनापोलीस में तो हालात बहुत ख़राब हैं।  इसके अतिरिक्त न्यूयार्क, एटलांटा, पोर्टलैंड, वाशिंग्टन, लास एंजलेस, ओकलैंड, डिट्रायट, और कई अन्य अमरीकी शहरों में भी बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किये जा रहे हैं।

टैग्स

कमेंट्स