Aug ०२, २०२० १०:१६ Asia/Kolkata
  • क्या कर्बला जा पाएंगे इस बार मुहर्रम व आशूर में लोग? आयतुल्लाह सीस्तानी के फतवे के बाद कर्बला के गवर्नर ने सुनाया फैसला!

इराक में कोरोना के फैलाव के बाद जहां वरिष्ठ धर्म गुरु आयतुल्लाहिल उज़मा सीस्तानी ने इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम की शोक सभाओं के आयोजन के लिए विशेष नियमों की घोषणा की है वहीं कर्बला के गवर्नर ने भी इस संदर्भ में आदेश जारी कर दिया है।

     इराक़ में हालिया दिनों में जिस तरह से कोरोना फैला है उसको देखते हुए इस देश के कई शहरों में लाकडाउन लगा दिया गया है।

     इस आधार पर इराक़ के पवित्र नगर कर्बला में भी अधिकारियों ने अरफा दिवस से लेकर गदीर तक बाहर से आने वाले ज़ायरीन के कर्बला प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था लेकिन अब जब मुहर्रम निकट है तो अधिकारियों ने इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम के श्रद्धालुओं से मांग की है कि वह मुहर्रम में कर्बला यात्रा की योजना न बनाएं।

      कर्बला के गर्वनर ने कहा है कि मुहर्रम के पहले दस दिन विशेष कर नवीं और दसवीं मुहर्रम को किसी भी देशी या विदेशी श्रद्धालु को कर्बला में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी।

     कर्बला के गर्वनर ने यह फैसला, मुहर्रम की शोक सभाओं के लिए वरिष्ठ धर्म गुरु आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली सीस्तानी के फतवे के बाद किया है जिसमें कहा गया है कि कोरोना के फैलाव की वजह से इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम की अज़ादारी में सभाओं के आयोजन से बचा जाए और टीवी पर मुहर्रम की शोक सभाओं का आयोजन किया जाए।

अरबईन मिलयन मार्च 

 

इस तरह से अब इराक़ और दुनिया के किसी भी देश के श्रद्धालु, मुहर्रम के अवसर पर कर्बला नहीं जा सकेंगे।

इराक़ में कोरोना की जो स्थिति है और जिस तरह से इराक़ी अधिकारी फैसले कर रहे हैं उन्हें देखते हुए एसा लगता है कि इस बार इमाम हुसैन का चालीसवां भी अलग तरह से मनाया जाएगा जिसके दौरान देश विदेश से दसियों लाख लोग, पैदल कर्बला का सफर करते थे। Q.A.

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

 

टैग्स

कमेंट्स