Aug ०५, २०२० २१:३९ Asia/Kolkata
  • हैफ़ा में बेरूत जैसा धमाका होने की संभावना से इस्राईलियों में भय, 12,000 टन अमोनियम नाइट्रेट कभी भी क़यामत बरपा कर सकता है

इस्राईलियों ने एक बार फिर ज़ायोनी शासन से मांग की है कि हैफ़ा के रासायनिक भंडारों में कोई भी बड़ा हादसा होने से पहले ख़तरनाक सामग्री को शहर से बाहर निकाल दिया जाए।

इस्राईल की सत्ताराधारी पार्टी के सांसद गिला गमलील ने बुधवार को एक रेडियो से बातचीत के दौरान, मंगलवार को बेरूत बंदरगाह के एक गोदाम में हुए भीषण धमाके की ओर संकेत करते हुए कहाः अगर ज़ायोनी शासन हैफ़ा से ख़तरनाक रासायनिक पदार्थों को बाहर निकालना शुरू भी करे तो इसमें पांच साल लग जायेंगे।

इस्राईली संसद की पर्यावरण समिति के एक वरिष्ठ अधिकारी मिकि हेमोविच का भी कहना था कि बेरूत धमाका, इस्राईलियों के लिए एक बहुत ही डरावनी कल्पना है, क्योंकि हैफ़ा में भी इसी तरह का रासायनिक भंडार है।

हेमोविच ने ज़ायोनी शासन से कहा कि हैफ़ा से रासायनिक सामग्री को तुरंत हटाने का काम शुरू किया जाए।

ग़ौरतलब है कि मंगलवार की शाम लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए भीषण धमाकों में अब तक कम से कम 100 लोगों की मौत की ख़बर है, जबकि 4,000 से भी ज़्यादा लोग घायल हुए हैं।

अभी तक धमाकों के कारणों का पता नहीं चल सका है। हालांकि लेबनानी अधिकारियों का कहना है कि पिछले 6 वर्षों से बंदरगाह के गोदामों में रखे गए 2,750 टन अमोनियम नाइट्रेट की वजह से यह धमाके हुए।

बुधवार को हैफ़ा के पर्यावरण केन्द्र ने एक बयान जारी करके कहा है कि यहां 1,500 क्षेत्र ख़तरे में हैं, इसलिए कि हैफ़ा बंदरगाह के कारख़ानों में 800 प्रकार के विस्फ़ोटक तथा रासायनिक पदार्ध रखे हुए हैं।

इस्राईल के टीवी चैनल-13 के एक विशेषज्ञ का कहना था कि जिस किसी ने भी बेरूत त्रासदी को देखा है, वह समझ सकता है कि यह हादसा हैफ़ा में भी हो सकता है, इसलिए कि हैफ़ा में भारी मात्रा में अमोनियम नाइट्रेट मौजूद है।

एक अनुमान के मुताबिक़, हैफ़ा में 12 हज़ार टन अमोनियम नाइट्रेट मौजूद। msm

टैग्स

कमेंट्स