Aug १०, २०२० २०:४० Asia/Kolkata

अपने लक्षयों को साधने के लिए पहले से तैयार इस उपद्रव की योजना को व्यवहारिक बनाने के लिए अमेरिकी अधिकारियों ने तैयार कर रखी थी। इस तनावपूर्ण स्थिति में अमेरिकी दूतावास का बयान तस्वीर साफ कर देता है, बैरुत धमाके के बाद पैदा हुई तनाव की स्थिति के बीच फ्रांसीसी राष्ट्रपति का लेबनान दौरा इस उपद्रव की शुरुवात थी। अराजक्ता और प्रतिरोध को कमज़ोर करने के उद्देश्य से आम लोगों पर दबाव, इस योजना का हिस्सा है। लेकिन आम लोगों की जागरुक्ता, संप्रभुता की सतर्कता और प्रतिरोध इस बात की इजाज़त नहीं देंगे कि ...

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

टैग्स

कमेंट्स