Aug १४, २०२० १५:०८ Asia/Kolkata
  • ईरान और तुर्की ने यूएई को लगाई फटकार, नेतनयाहू ने एक दिन के लिए भी यूएई की लाज नहीं रखी

तेहरान और अंकारा ने इस्राईल के साथ तथाकथित शांति समझौता करने के लिए संयुक्त अरब इमारात की कड़ी आलोचना की है।

गुरुवार 13 अगस्त को इस्राईल और संयुक्त अरब इमारात के बीच कूटनीतिक संबंधों की स्थापना की आधिकारिक घोषणा के बाद, ईरान के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी करके इसे एक ख़तरनाक क़दम बताया है।

तेहरान ने चेतावनी दी है कि इससे इस्राईली क़ब्ज़े के ख़िलाफ़ फ़िलिस्तीनियों का प्रतिरोध अधिक मज़बूत होगा।

विदेश मंत्रालय के बयान में कहा गया है कि इतिहास साबित कर देगा कि ज़ायोनी शासन द्वारा उठाया गया यह क़दम, एक रणनीतिक ग़लती थी। यूएई ने फ़िलिस्तीनियों, बल्कि समस्त मुसलमानों की पीठ में जो यह ख़ंजर घोंपा है, इससे केवल इस्राईल के ख़िलाफ़ प्रतिरोध और एकता में मज़बूती आएगी।

तुर्की के विदेश मंत्रालय ने भी यूएई के इस क़दम की कड़ी आलोचना करने के लिए कुछ इसी तरह के शब्दों का इस्तेमाल किया है।

तुर्की के विदेश मंत्रालय का कहना है कि यूएई ने अपने हितों के लालच में इस्राईल के साथ कूटनीतिक रिश्ते क़ायम करके फ़िलिस्तीनियों के साथ विश्वासघात किया है।

अंकारा का कहना है कि फ़िलिस्तीनियों ने यूएई के इस फ़ैसले को मज़बूती से ठुकरा दिया है। अबू-धाबी ने अपने स्वार्थी हितों के लिए फ़िलिस्तीनियों की पीठ में छुरा घोंप दिया है।

तुर्क विदेश मंत्रालय के बयान में कहा गया है कि इतिहास और मुसलमान, यूएई के इस पाखंड को न कभी भूलेंगे और न ही कभी माफ़ करेंगे, क्योंकि इस पाखंडी कृत्य के ज़रिए अबू-धाबी ने अपने बहुत ही तुच्छ हितों की ख़ातिर फ़िलिस्तीनियों के साथ विश्वासघात किया है।

इस्राईल के साथ शांति समझौता करने वाला, यूएई फ़ार्स खाड़ी का पहला और अरब जगत का तीसरा देश बन गया है।

अमरीकी राष्ट्रपति डोलन्ड ट्रम्प और इस्राईली प्रधान मंत्री नेतनयाहू ने ऐतिहासिक क़दम और बड़ी सफलता बताते हुए इस्राईल-यूएई के बीच हुए समझौते की प्रशंसा की है।

हालांकि फ़िलिस्तीनियों ने एकमत होकर इस समझौते को ख़ारिज कर दिया है। फ़िलिस्तीनी अथॉर्टी के प्रमुख महमूद अब्बास के वरिष्ठ सलाहकार नबील अबू रुदैनाह ने कहा है कि यह समझौता, फ़िलिस्तीनी कॉज़ के साथ विश्वासघात है।

जहां यूएई ने दावा किया है कि इस समझौते के बाद, इस्राईल फ़िलिस्तीनियों की ज़मीनों को नहीं छीनेगा, वहीं इस्राईली प्रधान मंत्री नेतनयाहू ने स्पष्ट कर दिया है कि उन्होंने वेस्ट बैंक के विलय को केवल स्थगित करने पर सहमति जताई है, जबकि यह विकल्प हमेशा उनकी मेज़ पर मौजूद रहेगा। msm

टैग्स

कमेंट्स