Sep १९, २०२० २२:२० Asia/Kolkata
  • अरब सरकारों की ग़द्दारी के ख़िलाफ़ फ़िलिस्तीनियों व यमनियों के ज़ोरदार प्रदर्शन

बैतुल मुक़द्दस और पश्चिमी तट के विभिन्न इलाक़ों में दसियों हज़ार फ़िलिस्तीनियों ने विरोध प्रदर्शन करके ज़ायोनी शासन के साथ इमारात और बहरैन के संबंध स्थापना के समझौतों की कड़ी निंदा की।

फ़िलिस्तीनी प्रदर्शनकारियों पर ज़ायोनी शासन के सुरक्षा बलों ने हमला कर दिया और दसियों लोगों को घायल करने के अलावा कई लोगों को गिरफ़्तार भी कर लिया। इस्राईल के साथ इन दो अरब देशों के संबंध स्थापित होने की घोषणा के बाद से ही फ़िलिस्तीनियों में इनके ख़िलाफ़ आक्रोश पाया जाता है और वे लगभग हर दिन इमारात व बहरैन के ख़िलाफ़ प्रदर्शन कर रहे हैं। इन प्रदर्शनों के दौरान इन दोनों देशों को अरब जगत व मुस्लिम समुदाय का ग़द्दार क़रार दिया जाता है।

 

दूसरी ओर यमन के लोगों ने भी प्रदर्शन करके ज़ायोनी शासन के साथ इमारात और बहरैन के संबंध स्थापना के समझौतों की कड़ी निंदा की है। दक्षिणी यमन के अबयन प्रांत में होने वाले इस प्रदर्शन में लोग फ़िलिस्तीन का राष्ट्र ध्वज और मस्जिदुल अक़सा के चित्र उठाए हुए थे। प्रदर्शनकारी इमारात और बहरैन की ग़द्दारी के ख़िलाफ़ नारे लगा रहे थे। प्रदर्शनकारियों ने यमन व बहरैन के शासकों के इस क़दम को धर्म व इस्लामी आस्थाओं के ख़िलाफ़ और विश्वासघात बताया। यमन के लोगों ने इस्लामी जगत से अपील की है कि वे इन अरब शासकों की कार्यवाहियों का मुक़ाबला करे। यमनी प्रदर्शनकारियों ने ज़ायोनी शासन से संबंध स्थापित करने के लिए यमन के अपदस्थ व भगोड़े राष्ट्रपति मंसूर हादी की ओर से किसी भी प्रकार के क़दम की ओर से चेतावनी भी दी है। (HN)

 

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

कमेंट्स