Sep २४, २०२० १२:३१ Asia/Kolkata
  • यमन में क्रांति से पहले अमरीका का सिक्का चलता था, अमरीका जो चाहता था वही होता था... दस्तावेज़ों की ज़बानी

यमन के अलमसीरा चैनल ने 21 सितम्बर की क्रांति से पहले यमन में अमरीकी दूतावास के व्यापक हस्तक्षेप के बारे में गुप्त दस्तावेज़ों से पर्दा उठाया है।

अलमसीरा ने जो महत्वपूर्ण गुप्त दस्तावेज़ जारी किए हैं उनका संबंध 21 सितम्बर की क्रांति से पहले का है।

इन दस्तावेज़ों में से कुछ सनआ में अमरीकी दूतावास और कुछ यमन की राष्ट्रीय सुरक्षा संस्था की ओर से 21 सितम्बर की क्रांति से पहले जारी हुए और इनसे पता चलता है कि यमन में अमरीका का कितना हस्तक्षेप था।

अमरीकी दूतावास से जारी होने वाले गुप्त दस्तावेज़ों में से एक में यमन में अमरीका के पूर्व राजदूत जेराल्ड फ़ायरेस्टियन आतंकवाद निरोधक दस्ते को गृहमंत्रालय से रक्षामंत्रालय स्थानांतरित करने का आदेश देते हैं।

अमरीकी दूतावास के इन दस्तावेज़ों से पता चलता है कि यमनी सरकार विशेष सैन्य दस्तेव के कमान्डर, उनके सहयोग और डिप्टी चीफ़ आफ़ आर्मी स्टाफ़ सहित अनेक कमान्डरों की तैनाती के लिए कितनी जल्दी कार्यवाही करती है।

उसी समय यमन की राष्ट्रीय सुरक्षा संस्था की ओर से जारी होने वाले दस्तावेज़ों से सैम और स्ट्रेला मीज़ाइलों और एंटी एयर डिफ़ेंस सिस्टम को तबाह करने का भी पता चलता है और इससे यह भी पता चलता है कि यह सब काम पूरी तरह से अमरीका की निगरानी और उसके पूर्ण समन्वय से हो रहे थे।

यमन की राष्ट्रीय सुरक्षा संस्था की ओर से जारी दस्तावेज़ों में कहा गया है कि अमरीकी पक्ष अपनी कार्यवाहियां, वाशिंग्टन के राष्ट्रीय हितों की सेवा और यमन के हितों पर ध्यान दिए बिना ही अंजाम दे रहे हैं।

वर्ष 2004 में यमनी जनता ने देश के संचालन में अक्षमता के कारण राष्ट्रपति मंसूर हादी के विरुद्ध प्रदर्शन शुरु किए और यह प्रदर्शन धीरे धीरे पूरे यमन में होने लगे। प्रदर्शनों के जारी रहने के दौरान यमन की जनता और क्रांतिकारी 21 सितम्बर को सनआ में दाख़िल हो गये और यमन के जनांदोलन अंसारुल्लाह ने देश के अन्य राजनैतिक दलों के साथ मिलकर सत्ता अपने हाथ में ले ली और मंसूर हादी त्यागपत्र देने पर मजबूर हो गये। (AK)

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स

कमेंट्स