Oct २५, २०२० ०८:५७ Asia/Kolkata
  • सऊदी अरब के दो हवाई अड्डों और एक सैन्य छावनी पर यमनी ड्रोनों का हमला

यमन की सेना और स्वयं सेवी बल के ड्रोन यूनिट ने शनिवार को सऊदी अरब के दक्षिण में इस देश के जीज़ान व अबहा शहरों और ख़मीस मुशैत एयर बेस को निशाना बनाया है।

यमन की सेना के प्रवक्ता ने बताया है कि सेना के "क़ासिफ़-K2" ड्रोनों ने जीज़ान व अबहा हवाई अड्डों और ख़मीस मुशैत एयर बेस पर हमला किया है। यहया सरी ने बताया कि ये हमले, दुश्मन के अपराधों और सऊदी अरब के आक्रमणकारी गठजोड़ की ओर से यमन पर किए जा रहे हमलों और घेराबंदी जारी रखने के जवाब में किए गए हैं। हालिया महीनों में यमन की सेना और स्वयं सेवी बल के ड्रोन व मीज़ाइल यूनिटों ने कई बार जीज़ान व अबहा के हवाई अड्डों और ख़मीस मुशैत एयर बेस को निशाना बनाया है।

 

यमनी सेना के प्रवक्ता के इस बयान के कुछ देर बाद सऊदी गठबंधन के प्रवक्ता तुर्की मालेकी ने कहा कि शनिवार को यमन से आने वाले ड्रोनों को ध्वस्त कर दिया गया। प्रवक्ता ने दावा किया कि अंसारुल्लाह आंदोलन ने सऊदी अरब के इलाक़ों में आम नागरिकों को निशाना बनाने की कोशिश की जिसे नाकाम कर दिया गया।

 

ये दो हवाई अड्डे और इसी तरह ख़मीस मुशैत हवाई छावनी, उन युद्धक विमानों के ईंधन भरने का मुख्य स्थान हैं जिन्हें यमन के ख़िलाफ़ सऊदी गठजोड़ के हमलों में इस्तेमाल किया जाता है। सऊदी अरब ने अमरीका, संयुक्त अरब इमारात और कुछ अन्य देशों की मदद से मार्च 2015 से यमन पर सैन्य हमले शुरू किए थे। इसके बाद इस ग़रीब अरब देश की जल, थल और वायु मार्ग से घेराबंदी भी कर दी गई। यमन के ख़िलाफ़ सऊदी अरब और उसके घटकों के हमलों में अब तक 16,000 से ज़्यादा यमनी मारे जा चुके हैं, लाखों घायल हुए हैं और दसियों लाख बेघर हो  गए हैं। (HN)

 

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स

कमेंट्स