Oct २९, २०२० १९:२७ Asia/Kolkata
  • इराक़ी जियालों का एलान,  इलाक़े में युद्ध हुआ तो इस्राईल मिट जाएगा दुनिया के नक्शे से...

इराक़ में  अन्नोजबा आंदोलन के महासचिव शेख अकरम अलकाबी ने गुरुवार को कहा है कि अगर इस्राईल ने इलाक़े में कोई युद्ध शुरु किया तो वह दुनिया के नक्शे से गायब हो जाएगा।

अकरम अलकाबी ने तेहरान में वरिष्ठ नेता के सलाहकार अली अकबर विलायती से एक भेंट में कहा कि ट्रम्प की चुनावी टीम, इलाक़े के देशों पर इस्राईल के साथ संबंध स्थापित करने के  लिए दबाव डाल रही है और यह सिलसिला इराक़ तक भी पहुंच गया है यहां तक कि कुछ दाइशी राजनेता और एजेन्ट, इस्राईल के साथ संबंध बनाने को इराक़ की प्राथमिकताओं  में से गिनाने लगे हैं और उन्होंने तो इस्राईल का काल्पनिक दूतावास भी खोल लिया।

उन्होंने कहा कि इराक़ी प्रतिरोध मोर्चा और अन्नोजबा संगठन, इस्राईल के साथ संबंध सामान्य बनाने की हर कोशिश के खिलाफ डटा हुआ है।

उन्होंने बताया कि इस्राईली प्रतिनिधिमंडल, अमरीकी पास्पोर्ट पर इराक़ की यात्रा करते हैं और बगदाद हवाई अड्डे पर इस्राईलियों का इस तरह से आवागमन और इसी प्रकार कुछ इराक़ी नेताओं से उनकी भेंट, इराक़, ईरान और पूरे इलाके के लिए खतरा है।

उन्होंने इस्राईल के बारे में  कहा कि हमारा यह विश्वास है कि अगर इस्राईल किसी भी नये युद्ध में शामिल हुआ  तो उसका अस्तित्व ही मिट जाएगा और निश्चित रूप से फिलिस्तीनी, लेबनानी, इराक़ी और ईरानी प्रतिरोधक गुट बैतुलमुकद्दस में झंडा गाड़ देंगें जैसा कि इस्लामी क्रांति के नेता ने वादा किया है कि हम  सब बैतुलमुकद्दस में नमाज़ पढेंगे।

उन्होंने कहा कि हम इस्राईल को अपने देश से खदेड़ चुके हैं और अगर इस्राईलियों ने हमारे देश में दोबारा घुसने की कोशिश की तो उन्हें बड़ा दर्दनाक जवाब मिलेगा।

     उन्होंने बताया कि इराक़ के मामले को ट्रम्प ने यूएई के  क्राउन प्रिंस बिन ज़ायद के हवाले कर दिया है और अब वह इराक़ में  संकट पैदा करने के लिए जासूसों की सेवाएं प्राप्त कर रहे हैं।

इराक़ प्रतिरोधक गुट अन्नोजबा के महासचिव अकरम अलकाबी ने कहा कि सऊदी अरब और यूएई के सारे अपराधों के पीछे अमरीका और इस्राईल का हाथ है लेकिन अन्ततः सारी साज़िशें नाकाम हो जाएंगी।

उन्होंने कहा कि जनरल क़ासिम सुलैमानी जैसे शहीदों के खून की वजह से प्रतिरोध का मोर्चा एकजुट हुआ है और आज प्रतिरोध मोर्चा किसी एक देश तक सीमित नहीं है बल्कि उसकी जड़ें, इराक़, सऊदी अरब, सीरिया और पाकिस्तान तक फैल चुकी हैं। Q.A.


ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

 

टैग्स

कमेंट्स