Nov १२, २०२० ०८:४० Asia/Kolkata
  • दुश्मन की हर मूर्खता का कड़ा जवाब देंगे, अमरीकी चुनाव, प्रजातंत्र के लिए फ़ज़ीहत हैः नसरुल्लाह

लेबनान के हिज़्बुल्लाह संगठन के महासचिव ने कहा है कि जो कुछ अमरीका के चुनाव में हुआ है वह इस देश के प्रजातंत्र के लिए अत्यंत शर्मनाक है।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने बुधवार की रात शहीद दिवस के उपलक्ष्य में भाषण करते हुए कहा कि अमरीका के राष्ट्रपति चुनाव के परिणाम से क्षेत्र में कोई बदलाव नहीं आएगा और अमरीका की एकमात्र व स्थायी प्राथमिकता, इस्राईल की सुरक्षा व उसकी सैन्य श्रेष्ठता को बाक़ी रखना है। उन्होंने इस बात का उल्लेख करते हुए कि ट्रम्प सरकार, सबसे अधिक घमंडी, सबसे बड़ी अपराधी व क्रूरतम सरकार है, कहा कि इस सरकार ने हत्या, भ्रष्टाचार, अपराध व साम्राज्यवाद के बारे में अमरीका का वास्तविक चेहरा दुनिया के सामने पेश कर दिया।

 

लेबनान के हिज़्बुल्लाह संगठन के महासचिव ने इस बात पर ज़ोर देते हुए कि विभिन्न विषयों विशेष कर फ़िलिस्तीन की समस्या के बारे में ट्रम्प की नीति, पराजित हो चुकी है, कहा कि ट्रम्प की हार से, ट्रम्प, नेतनयाहू और बिन सलमान पर आधारित डील आफ़ सेंचुरी के त्रिकोण का एक कोण धराशायी हो गया है। सैयद हसन नसरुल्लाह ने इस बात की तरफ़ इशारा करते हुए कि ट्रम्प जैसे इंसान से उनके बाक़ी बचे सत्ताकाल में किसी भी प्रकार के काम की संभावना रखी जा सकती है, कहा कि प्रतिरोध के मोर्चे को अमरीका या इस्राईल की तरफ़ से किसी भी मूर्खता का जवाब देने के लिए तैयार रहना चाहिए।

 

हिज़्बुल्लाह के महासचिव ने कहा कि हिज़्बुल्लाह को प्रतिबंधित करने का लक्ष्य प्रतिरोध पर मानसिक दबाव डालना, सूचनाएं एकत्रित करना और अपने पिट्ठुओं को इस्तेमाल करना है और कुछ लोगों ने लेबनान के अंदर अमरीकियों को उकसाया ताकि वे (पूर्व विदेश मंत्री) जबरान बासील पर प्रतिबंध लगा दें। उन्होंने इस्राईल के हालिया सैन्य अभ्यास की तरफ़ इशारा करते हुए कहा कि लेबनान के प्रतिरोध ने पहली बार इस्राईल को हमले के रुख़ से रक्षा के रुख़ पर ला दिया है। (HN)

टैग्स