Nov २९, २०२० १४:५० Asia/Kolkata
  • हसन नसरुल्लाह सहित कई बड़े लोगों की हत्या की तैयारी की थी इस्राईल ने, हिज़्बुल्लाह को  चल गया पता... अब इस्राईल में ईरान की जवाबी कार्यवाही का डर

इस्राईली टीवी चैनल " कान " ने कुवैती समाचारपत्र " अलजरीदा" के हवाले से बताया है कि लेबनान के हिज़्बुल्लाह आंदोलन ने पिछले हफ्ते, हिज़्बुल्लाह के महाचिव सैयद हसन नसरुल्लाह और सीरिया, इराक़ और फिलिस्तीन में ईरान के समर्थक संगठनों के प्रमुखों की हत्या की इस्राईली योजना का पता लगा लिया था।

     इस्राईली टीवी चैनल के अनुसार, सैयद हसन नसरुल्लाह ने इस बात की सूचना, आईआरजीसी के कुद्स ब्रिगेड के कमांडर, जनरल इस्माईल क़ाआनी से बैरुत में मुलाकात के दौरान दे दी थी।

     इस्राईली टीवी चैनल के अनुसार हसन नसरुल्लाह ने क़ाआनी को यह भी बताया कि हिज़्बुल्लाह को क्यों यह अनुमान है कि इस्राईल, ईरान के परमाणु प्रतिष्ठानों और मिसाइल कारखानों तथा इलाक़े में ईरान के घटकों के ठिकानों को, ट्रम्प की सत्ता खत्म होने से पहले निशाना बनाना चाहता है।

     इसी सिलसिले में इस्राईल के सैन्य मामलों के विशेषज्ञ, आमूस हरईल ने इस्राईली समाचार पत्र हारित्ज़ से एक वार्ता में कहा है कि ईरान के परमाणु वैज्ञानिक मोहसिन फख्रीज़ादे की हत्या, एक रणनीतिक सफलता है लेकिन इसमें तनाव बढ़ने का स्ट्रेटजिक खतरा भी है।

     उनका कहना था कि फख्रीज़ादे की हत्या से अमरीका के नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के लिए ईरान के साथ परमाणु समझौते में वापसी कठिन हो गयी है।

        इस इस्राईली विशेषज्ञ ने कहा है कि अगर इस हत्या के पीछे इस्राईल का हाथ होगा तो उसे जल्द ही पता चल जाएगा कि इस हत्या से उसने बाइडन सरकार के सामने स्वंय को जो नुक़सान पहुंचाया है वह उस नुकसान से बहुत बड़ा है जो उसने इस हत्या से ईरान को पहुंचाया है।

शनिवार को भी इस्राईली मीडिया में कहा जा रहा था कि इस्राईल को ईरान की जवाबी कार्यवाही के लिए तैयार रहना चाहिए।

 

     इस्राईल के चैनल-13 के रिपोर्टर " ओर हीलर" का कहना है कि यह बीच का अंतराल संकटमय होगा और ईरान बदले के लिए कुछ भी कर सकता है, हमारी किसी सीमा पर या फिर सीमा से बाहर।

     इस्राईली मीडिया ने इसी तरह ज़ायोनी प्रधानमंत्री नेतेन्याहू के बारे में लिखा है कि उन्होंने सांकेतिक रूप से यह स्वीकार किया है कि ईरानी वैज्ञानिक फख्रीज़ादे की हत्या में इस्राईल का हाथ है।

     न्यूयार्क टाइम्ज़ पहले ही तीन खुफिया अधिकारियों के हवाले से यह लिख चुका है कि ईरानी वैज्ञानिक की हत्या के पीछे इस्राईल का हाथ है।

     इसी मध्य ईरानी संसद में राष्ट्रीय सुरक्षा समिति के प्रवक्ता अबुलफज़्ल अमूई ने कहा है कि आरंभिक जांच से पता चलता है कि ईरानी परमाणु वैज्ञानिक फख्रीज़ादे की हत्या के पीछे इस्राईल का हाथ है।

     उन्होंने बताया कि इस हत्या के बारे में आंरभिक जांच में महत्वपूर्ण तथ्य मिले हैं और हम इस हत्या का बदला लेंगे और अगर इस्राईल को यह लगता है कि इस हत्या का जवाब नहीं दिया जाएगा तो यह उसकी बहुत बड़ी गलती है। Q.A.

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

 

 

    

 

टैग्स