Dec २८, २०२० ०८:१८ Asia/Kolkata
  • बिन सलमान ने अमरीका को मेरी हत्या के लिए उकसाया था, कई बार हुई कोशिश, ट्रम्प जैसे सनकी से कुछ भी उम्मीद की जा सकती हैः नसरुल्लाह

लेबनान के इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन हिज़्बुल्लाह के महासचिव का कहना है कि ट्रम्प जैसे बड़े सनकी से किसी भी चीज़ की उम्मीद की जा सकती है।

हिज़्बुल्लाह के महासचिव सैयद हसन नसरुल्लाह ने रविवार की रात अलमयादीन टीवी से बात करते हुए क्षेत्र और देश की नयी स्थिति पर प्रकाश डाला।

उन्होंने कार्यक्रम के आरंभ में हज़रत ईसा मसीह के शुभ जन्म दिवस और नये साल की बधाई दी और आईआरजीसी के वरिष्ठ कमान्डर जनरल क़ासिम सुलैमानी और इराक़ी स्वयं सेवी बल हश्दुश्शाबी के उप कमान्डर जनरल अबू महदी अलमुहन्दिस की शहादत की बरसी पर सांत्वना पेश की।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने इस सवाल के जवाब में कि अगले कुछ दिनों में अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प की ओर से संभावित रूप से कुछ कार्यवाही हो सकती है, कहा कि इस बारे में सारी संभावनाएं पायी जाती हैं विशेषकर ट्रम्प जैसे सनकी व्यक्ति से किसी भी चीज़ की उम्मीद की जा सकती है।

उन्होंने कहा कि यह सारी कार्यवाहियां और बयान बाज़ियां, प्रतिरोध के मोर्चे के विरुद्ध अमरीका और ज़ायोनी शासन के मनोवैज्ञानिक युद्ध का हिस्सा हैं।

सैयद हसन नसरुल्लाह का कहना था कि अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प के शासन के बाक़ी बचे दिनों में बहुत होशियारी और सावधानी से काम लेने की ज़रूरत है।

उनका कहना था कि इस अवधि में ज़ायोनी शासन के सारे मीडिया ने प्रोपेगैंडे शुरु कर दिए हैं जिनसे पता चलता है कि यह प्रोपेगैंडा वास्तविकता से बहुत दूर है।  

सैयद हसन नसरुल्लाह का कहना था कि सबूतों और साक्ष्यों से पता चलता है कि ट्रम्प अपने शासन के बाक़ी बचे दिनों में संभावित रूप से कुछ कार्यवाहियां कर सकते हैं किन्तु सबसे बड़ा मुद्दा सत्ता हस्तांतरण का है।

लेबनान के इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन हिज़्बुल्लाह के महासचिव का कहना था कि उनकी हत्या की साज़िश, चाहे वह जनरल सुलैमानी की शहादत से पहले हो या बाद में, अमरीका और इस्राईल के लक्ष्यों में शामिल थी और चुनाव से पहले इस बारे में कई कोशिशें की गयीं क्योंकि ट्रम्प इस तरह की कार्यवाहियों से चुनाव में लाभ उठाने के प्रयास में थे।

सैयद हसन नसरुल्लाह का कहना था कि सऊदी अरब भी उन देशों में शामिल है जो उनकी हत्या की साज़िश कर रहे थे और सऊदी क्राउन प्रिंस ने अपने अमरीकी दौरे के दौरान यह इच्छा जताई थी कि यह काम उनके लिए किया जाए।

उनका कहना था कि सऊदी अरब वर्षों से विशेष रूप से यमन युद्ध के बाद से ही मेरी हत्या की साज़िश में लगा हुआ है। (AK)

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स