Dec २८, २०२० ११:११ Asia/Kolkata
  • पीजीसीसी की अहम बैठक, क़तर का घेराव ख़त्म करने का मुद्दा, क़तर ने आरोपों का किया खंडन

फ़ार्स की खाड़ी सहयोग परिषद के विदेशमंत्रियों ने महत्वपूर्ण बैठक में क़तर के साथ संबंधों की बहाली और क्षेत्रीय स्थिरता के बारे में विचार विमर्श किया।

फ़ार्स की खाड़ी सहयोग परिषद के विदेशमंत्रियों की वर्चुअल बैठक अब्दुल लतीफ़ बिन राशिद अज़्ज़ियानी की अध्यक्षता में हुई जबकि फ़ार्स की खाड़ी सहयोग परिषद का शिखर सम्मेलन 5 जनवरी को रियाज़ में आयोजित होगा।

ज्ञात रहे कि सऊदी अरब, संयुक्त अरब इमारात और बहरैन ने तथाकथित आतंकवादी गुटों का समर्थन करने का आरोप लगाते हुए 2017 में क़तर के साथ कूटनयिक संबंध तोड़ लिए थे।

दोहा ने इन आरोपों का खंडन किया और अपने पड़ोसी देशों पर आरोप लगाया है कि वह उसकी स्वाधीनता और अखंडता को ख़त्म करने का प्रयास कर रहे हैं।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरब, संयुक्त अरब इमारात, ओमान और बहरैन के विदेशमंत्री बैठक में शामिल हुए। क़तर के विदेशमंत्रालय के बयान में कहा गया है कि उप विदेशमंत्री सुल्तान बिन साद ने क़तर का नेतृत्व किया।

अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि क्या समझौता हुआ या नहीं किन्तु एक अधिकारी ने बताया कि अंतिम समझौते पर वार्ता जारी है।

एक सूत्र ने बताया कि आशा है कि इस बैठक द्वारा समझौता होगा जिसके परिणाम में वार्ता का रास्ता खुलेगा या क़तर के साथ हवाई सीमा खोलने पर और भी ठोस कार्यवाहियां हो सकती हैं। (AK)

ताज़ातरीन ख़बरों, समीक्षाओं और आर्टिकल्ज़ के लिए हमारा फ़ेसबुक पेज लाइक कीजिए!

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स