Jan १६, २०२१ १८:०३ Asia/Kolkata
  • अंसारुल्लाह के ख़िलाफ़ अमरीका की शत्रुतापूर्ण कार्यवाही के विरुद्ध यमनवासियों के धरने प्रदर्शन

यमन के जनांदोलन अंसारुल्लाह को आतंकवादी गुटों की सूचि में डालने के अमरीकी फ़ैसले के विरुद्ध यमनी जनता का विशाल प्रदर्शन किए।

यमनी प्रदर्शनकारियों ने शुक्रवार को अमरीका विरोधी नारे लगाते हुए इस देश के विरुद्ध अमरीका और सऊदी अरब के गठबंधन की कार्यवाहियों की निंदा की।  प्रदर्शनकारियों ने इसी प्रकार सऊदी अरब की ओर से तेल के जहाज़ को रोके जाने की भी निंदा दी।  इन यमनी प्रदर्शनकारियों ने एक बयान जारी करके एलान किया कि यमनी राष्ट्र, गठबंधन के हमलों का डटकर मुक़ाबला करेगा  बयान में कहा गया है कि यमनी जनता के विरूद्ध अमरीकी-सऊदी गठबंधन के जारी अत्याचार उनके नैतिक पतन का पता देते हैं।

याद रहे कि अमरीकी विदेश मंत्रालय ने हाल में एलान किया है कि वह यमन के जनांदोलन अंसारुल्लाह को आतंकवादी गुटों की सूचि में डालने जा रहा है।  माइक पोम्पियो ने कहा था कि उन्होंने इस फ़ैसले से कांग्रेस को सूचित कर दिया है।

यमन के मामले में यूएन के विशेष प्रतिनिधि "मार्टिन ग्रीफ़ित्स" ने अमरीकी सरकार से मांग की है कि वह यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन के संबंध में अपना फ़ैसला वापस ले।  मार्टिन ग्रीफ़ित्स ने बल देकर कहा है कि यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन को अमरीका की ओर से आतंकवादी संगठन में शामिल किये जाने से युद्ध में शामिल सभी पक्षों पर ख़तरनाक असर पड़ेगा।   उन्होंने अमरीकी सरकार से मांग की कि वह अपने इस फ़ैसले को जल्द से जल्द वापस ले। (AK)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स