Jan १७, २०२१ १२:४६ Asia/Kolkata
  • यमन पर हमला करने वाले यह न सोचें कि हम उनपर फूल बरसाएंगेः यमनी विदेश मंत्री

यमन की राष्ट्रीय मुक्ति सरकार के विदेश मंत्री ने कहा है कि सऊदी अरब की शांति-सुरक्षा यमन और यमनी राष्ट्र की शांति-सुरक्षा पर निर्भर करता है।

समाचार एजेंसी सबा की रिपोर्ट के मुताबिक़, यमन की राष्ट्रीय मुक्ति सरकार के विदेश मंत्री हेशाम शरफ़ ने सऊदी अरब और अन्य अरब देशों द्वारा सना द्वारा की जाने वाली जवाबी कार्यवाही पर दी जाने वाली प्रतिक्रया पर कहा कि, बहुत ही आश्चर्य की बात है कि वे लोग जो अपने युद्धक विमानों को यमन के आम नागरिकों के नरसंहार करने और यमनी शहरों एवं गावों को तबाह करने के लिए भेजते हैं वे इस बात की आशा करते हैं कि सना उनका मुंहतोड़ जवाब देने के बजाए उनपर फूल बरसाएगा।

उन्होंने कहा कि सऊदी अरब और उसके सहयोगी अरब देशों को उनके हर अत्याचार का मुंहतोड़ जवाब देना यमनी राष्ट्र का अधिकार है।

यमनी विदेश मंत्री ने कहा कि, रियाज़ अभी भी दुनिया की साम्राज्यवादी शक्तियों के धोखे में है और लगातार यमनी राष्ट्र को तबाह करने की कोशिश कर रहा है।

उन्होंने एक बार फिर विश्व समुदाय को निमंत्रण दिया कि वह खुली आंखों और न्याय के साथ यमन में होने वाली घटनाओं और सऊदी गठबंधन द्वारा किए जाने वाले जघन्य अपराधों को देखना चाहिए और न्याय करना चाहिए।

याद रहे कि यमन की मिसाइल यूनिट ने पिछले कुछ वर्षों में सऊदी गठबंधन के पाश्विक हमलों का लगातार मुंहतोड जवाब दिया है।

उल्लेखनीय है कि, सऊदी अरब ने अमरीका, संयुक्त अरब इमारात और कुछ अन्य देशों के साथ मिल कर मार्च 2015 में यमन पर सैन्य हमला शुरू किया था और इस देश का जल, थल और वायु मार्गों से घेराव कर रखा है।

यमन पर सऊदी अरब के हमलों में अब तक दसियों हज़ार लोग मारे जा चुके हैं।

पांच साल से ज़्यादा समय गुज़र जाने के बावजूद सऊदी अरब यमन में अपने किसी भी लक्ष्य को हासिल नहीं कर सका है। (RZ)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

इंस्टाग्राम पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स