Jan २२, २०२१ १७:०० Asia/Kolkata

इराक़ की राजधानी बग़दाद के तैरान स्क्वायर पर होने वाले दो भीषण आत्मघाती हमलों के बाद प्रधानमंत्री मुस्तफ़ा अलकाज़मी ने कहा कि वह ख़ुद व्यक्तिगत रूप से देश की गुप्तचर संस्थाओं पर नज़र रखेंगे।

उन्होंने शुक्रवार को इराक़ की राष्ट्रीय सुरक्षा की आपातकालीन बैठक में कहा कि देश की अगली सुरक्षा चुनौतियों से मुक़ाबले के लिए व्यापक योजनाएं लागू की जाएंगी।  उनका कहना था कि इन योजनाओं से संभावित आतंकी हमलों पर रोक लगेगी।

मुस्तफ़ा अलकाज़ेमी ने बैठक में कहा कि सुरक्षा केवल एक वाक्य नहीं है जिसे हम मीडिया में बोलते रहते हैं बल्कि एक ज़िम्मेदारी है। उनका कहना था कि गुरुवार को जो घटना घटी वह सुरक्षा व्यवस्था की एक बड़ी चूक थी और हम इस प्रकार की घटनाओं की अनुमति नहीं देंगे।

इराक़ी प्रधानमंत्री ने कहा कि दाइश रोज़ाना बग़दाद तक पहुंचने की कोशिश कर रहा है लेकिन यह कार्यवाही पहले ही विफल बनाई जा सकती थी। उनका कहना था कि इन हालात में हम सुरक्षा की नई योजनाओं पर काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि इराक़ और इराक़ी जनता की सुरक्षा के मुद्दे पर मैं कोई समझौता नहीं कर सकता।  इराक़ी प्रधानमंत्री ने कहा कि सुरक्षा और सैन्य ढांचे में काफ़ी परिवर्तन किया गया है और बग़दाद आने वाली चुनौतियों से मुक़ाबले के लिए एक व्यापक योजना पर काम करेगा।

इराक़ी प्रधानमंत्री ने गुरुवार के ख़ूनी धमाकों के बाद कुछ सुरक्षा अधिकारियों को हटा दिया।

गुरुवार 21 जनवरी 2021 को बग़दाद के केंद्रीय बाज़ार के तैरान स्क्वायर और इसी तरह बाबुश्शरक़ी इलाक़े में हुए आत्मघाती हमलों में 33 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 110 अन्य घायल हुए हैं।

इराक़ के गृहमंत्रालय के प्रवक्ता ख़ालिद अलमुहन्ना ने बताया था कि विस्फोटकों की बेल्ट बांधे हुए पहले आतंकी ने यह ज़ाहिर करने की कोशिश की थी कि वह बीमार है और जब लोग उसके आस पास एकत्रित हुए तो उसने धमाका कर दिया। उनके मुताबिक़, जब लोग विस्फोट के स्थान पर से घायलों को ले जाने के लिए स्थानीय लोग इकट्ठा हो रहे थे तो दूसरे आतंकी ने भी विस्फोटकों वाली अपनी बेल्ट में धमाका कर दिया।  (AK)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स