Mar ०२, २०२१ १८:४३ Asia/Kolkata
  • यमन और ईरान के संबन्ध धर्म व आस्था पर आधारित हैंः अंसारुल्लाह

यमन के अंसारुल्लाह आन्दोलन के राजनीतिक कार्यालय के सदस्य ने कहा है कि ईरानी व यमनी राष्ट्रों के संबध, धर्म व आस्था के आधार पर हैं।

मुहम्मद अलबुख़ैती ने उन लोगों को संबोधित करते हुए जो वहाबियत और सऊदी अरब से संबन्धित "अलइस्लाह" पार्टी के धोखे में आ गए, कहा कि अच्छे राष्ट्र को दूसरे राष्ट्रों के साथ बदलने के बारे में पवित्र क़ुरआन की आयतें और पैग़म्बरे इस्लाम (स) के जो कथन पाए जाते हैं वे ईरान और यमन के वर्तमान संपर्क के साक्षी हैं। अलबुख़ैती ने आगे कहा कि पवित्र क़ुरआन जिस गठबंधन को काफ़िर, अधिक घाटा उठाने वाला, अधिक मिथ्याचारी और ईमान वालों के साथ घोर शत्रुता रखने वाला बताता है, वह आज यमन के मुक़ाबले में मौजूद है और उसने यमन की अत्याचारग्रस्त जनता पर बहुत अधिक अत्याचार किये हैं।

 

याद रहे कि सऊदी अरब ने अमरीका, यूएई और कुछ अन्य देशों के समर्थन से मार्च 2015 में यमन पर आक्रमण करके यमन का चारों ओर से परिवेष्टन कर रखा है। सऊदी गठबंधन के हमले में अब तक 16 हज़ार से अधिक लोग मारे जा चुके हैं जबकि दसियों हज़ार लोग घायल और बेघर हुए हैं।

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स