Mar ०३, २०२१ १५:४० Asia/Kolkata
  • इराक़, अमरीकी सैनिकों की मेज़बान छावनी अल-असद पर रॉकेट हमला, एक व्यक्ति की मौत

इराक़ के सैन्य सूत्रों के मुताबिक़, अल-अंबार प्रांत में स्थित अल-असद सैन्य छावनी पर नया रॉकेट हमला हुआ है, जिसमें एक ठेकेदार की मौत हो गई है।

यह वही सैन्य छावनी है, जिस पर ईरान ने अमरीका द्वारा आईआरजीसी की क़ुद्स फ़ोर्स के पूर्व कमांडर जनरल सुलेमानी की हत्या के बाद जनवरी 2019 में बैलिस्टिक मिसाइल दाग़े थे।

बुधवार को हुए ताज़ रॉकेट हमले के दौरान, अमरीकी सेना के लिए काम करने वाले एक ठेकेदार की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई।

सूत्रों के अनुसार, अमरीकी नेतृत्व वाले विदेशी सैन्य गठबंधन के सैनिकों की मेज़बान छावनी पर कम से कम 10 रॉकेट फ़ायर किए गए हैं।

सूत्रों ने मरने वाले ठेकेदार की नागरिकता की पुष्टि नहीं की है और अमरीका ने अभी तक इस बारे में चुप्पी साध रखी है।

यह हमला कैथोलिक ईसाईयों के वरिष्ठ धर्मगुरु पॉप फ़्रांसिस की इराक़ की यात्रा से ठीक दो दिन पहले किया गया है।

इराक़ में अमरीकी सेना के प्रवक्ता कर्नल वेयन मारोटो ने हमले की पुष्टि की है, लेकिन इससे होने वाले नुक़सान के बारे में कोई जानकारी नहीं दी।

बग़दाद में ऑप्रेशन कमांड के एक अधिकारी ने बताया है कि छावनी से 8 किलोमीटर की दूरी से 13 रॉकेट फ़ायर किए गए थे।

पश्चिम के सुरक्षा सूत्रों ने दावा किया है कि फ़ायर किए गए रॉकेट ईरान निर्मित आरश मॉडल के थे, जो इराक़ में पश्चिमी ठिकानों पर हमलों में इस्तेमाल किए गए रॉकेटों की तुलना में भारी थे। msm

टैग्स