Mar ०३, २०२१ १८:१० Asia/Kolkata

यमन की सशस्त्र सेना के प्रवक्ता के अनुसार सऊदी अरब के विमानों के शेल्टर पर देश की ड्रोन यूनिट का हालिया, उन विमानों को दूर करना था जो आए दिन यमन की जनता पर बमबारी करते हैं।

यह कार्यवाही, युद्ध के मैदान में संतुलन बनाने की परिधि में की गयी थी।

हमलावर सऊदी गठबंधन के हवाई अड्डों पर हमले का स्पष्ट संदेश है कि हमारे पास तुम्हारे हवाई अड्डों और अहम प्रतिष्ठानों पर हमले की क्षमता पायी जाती है, यमनी जनता की मांग है कि युद्ध को पूरी तरह बंद किया जाए और देश के परिवेष्टन को तुरंत ख़त्म किया जाए।

यमनी सेना की ड्रोन ईकाई ने बहुत अधिक प्रगति कर ली है, ड्रोन लंबी दूरियां तय करते हैं और दुश्मन के रडार उनको पहचान और पकड़ नहीं पाते.... हमलावर सऊदी गठबंधन अपने हालिया हमलों से जो शरणार्थियों के कैंप पर हुआ था, मआरिब की ओर से यमनी सेना और स्वयं सेवी बलों के बढ़ते क़दमों को रोकने की कोशिश कर रहा है, लेकिन कई क़बीलों के साथ देने की वजह से यमनी सेना और स्वयं सेवी बल के जवान जल्द ही मआरिब को आज़ाद करा लेंगे।

मआरिब को चारों ओर से घेर लिया गया है, कभी भी मआरिब आज़ाद हो सकता है, हम सुरक्षा के अंतिम चरण पर कार्यवाही कर रहे हैं, सेना बिना किसी नुक़सान से शहर में दाख़िल होना चाहती है ताकि आम नागरिकों की जान की रक्षा हो सके।

 मआरिब की ओर सेना की व्यापक प्रगति जारी है और सेना के जवान तीन ओर से हमले कर रहे हैं, बताया जाता है कि तईज़ के अबहर और हैफ़ान में छह घंटे तक झड़पें होती रहीं, सैन्य सूत्रों का कहना है कि इन हमलों में दर्जनों सऊदी एजेन्ट मारे गये और घायल हुए। 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स