Mar ०३, २०२१ १८:५९ Asia/Kolkata
  • अंसारुल्लाह के दो कमांडरों पर अमरीका ने लगाया प्रतिबंध, क्या बाइडन युद्ध को लम्बा खींचना चाहते हैं?

यमन के अंसारुल्लाह आन्दोलन के प्रवक्ता ने कहा है कि अमरीका, युद्ध को लम्बा खींचना चाहता है।

अलमसीरा टीवी चैनेल की रिपोर्ट के अनुसार, अमरीका की ओर से प्रतिबंधित किये गए अंसारुल्लाह के दो कमांडरों के बारे में अपनी प्रतिक्रिया में मुहम्मद अब्दुस्सलाम ने बुधवार कहा कि बाइडन ने पहले तो शांति की बात कही थी और फिर शांति का दावा करते हुए प्रतिबंधों की ओर क़दम बढ़ाया है।  उनका कहना था कि इससे सिद्ध होता है कि अमरीका, यमन युद्ध को समाप्त कराने और इसके परिवेष्टन को ख़त्म करने का इच्छुक नहीं है। अब्दुस्सलाम ने कहा कि अमरीका, यमन संकट को बढाना चाहता है।

अमरीका के विदेशमंत्री एंटनी ब्लिंकन ने पिछले सात वर्षों से यमन पर सऊदी गठबंधन की ओर से किये जा रहे हमलों की ओर संकेत करते हुए अंसारुल्लाह आन्दोलन की रक्षात्मक कार्यवाहियों की निंदा की। उन्होंने अंसारुल्लाह के दो कमांडरों "मंसूर अस्सादी" और "अहमद अली अहसन" पर प्रतिबंध लगा दिये।

हालांकि इससे पहले अमरीका के राष्ट्रपति बाइडेन ने यमन की मानवीय स्थिति पर चिंता जताते हुए दावा किया था कि उनकी सरकार यमन युद्ध को समाप्त कराना चाहती है। 

टैग्स