Mar ०४, २०२१ ०९:०० Asia/Kolkata
  • हिज़्बुल्लाह ने इस्राईल को कड़ी चेतावनी दी, अगर इस्राईल ने लेबनान पर हमला किया तो ऐसा सबक़ सिखाएंगे कि उसे दिन में तारे नज़र आयेंगे और यह युद्ध इस्राईल के अंदर तक पहुंच जायेगा।

शैख़ नईम क़ासिम ने बल देकर कहा कि हम इस्राईल से युद्ध के लिए हर वक्त तैयार हैं और हम उसे ऐसा सबक़ सिखाने की क्षमता रखते हैं जिसे वह कभी भी नहीं भूल सकेगा।

लेबनान के इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन के उप महासचिव ने ज़ायोनी शासन के युद्धमंत्री के हालिया दावों की प्रतिक्रिया में कहा है कि अगर इस्राईल ने लेबनान पर हमला किया तो हम ऐसा काम करेंगे जिससे उसे दिन में तारे नज़र आयेंगे।

समाचार एजेन्सी तसनीम की रिपोर्ट के अनुसार अलमयादीन टीवी चैनल से बात करते हुए शैख़ नईम क़ासिम ने बल देकर कहा है कि हिज़्बुल्लाह युद्ध नहीं चाहता और वह प्रतिरक्षा की स्थिति में है किन्तु अगर इस्राईल ने लेबनान पर हमला किया तो हम ऐसा काम करेंगे कि दिन की रोशनी में वह अपनी आंखों से तारों को देखेगा।

उन्होंने कह कि जायोनी शासन को समझ लेना चाहिये कि अतीत की तरह वर्तमान समय में रणक्षेत्र उसके लिए नहीं खुला हुआ है और अगर युद्ध आरंभ हुआ तो वह इस्राईल के अंदर तक पहुंच जायेगा।

शैख़ नईम क़ासिम ने बल देकर कहा कि हम इस्राईल से युद्ध के लिए हर वक्त तैयार हैं और हम उसे ऐसा सबक़ सिखाने की क्षमता रखते हैं जिसे वह कभी भी नहीं भूल सकेगा।

साथ ही उन्होंने कहा कि इस समय कठिन है कि अमेरिका या इस्राईल हिज़्बुल्लाह पर हमला करें और अगर हमला हुआ तो हम ईंट का जवाब पत्थर से देंगे।

जानकार हल्कों का मानना है कि अगर इस्राईल लेबनान पर हमला करेगा तो वह ऐसा करने से पहले सौ बार सोचेगा क्योंकि इस्राईल को बहुत अच्छी तरह ज्ञात है कि वह दिन बीत चुके हैं जब कुछ लोग व देश ग़लतफ़हमी का शिकार थे और इसी ग़लतफ़हमी की वजह से उसे अजेय समझते थे पर हिज़्ल्लाह और हमास ने उसे जो सबक़ सिखाया है उसे वह न भूला है और न ही भूलेगा। इस्राईल ने अपनी खोखली शक्ति का जो ढिंढोरा पीट रखा था और विश्व समुदाय में जो भ्रम फैला रखा था हिज़्बुल्लाह के रणबांकुरों ने उसकी हवा निकाल दी है और वर्ष 2006 में इस्राईल ने लेबनान के खिलाफ जो 33 दिवसीय युद्ध आरंभ किया था उसके नतीजे को उदाहरण के तौर पर देखा जा सकता है।

इसी प्रकार इन जानकार हल्कों का मानना है कि इस्राईल को अच्छी तरह पता है कि यह 1967 नहीं है जब उसने 6 दिवसीय युद्ध में कुछ अरब देशों पर हमला करके उनकी ज़मीनों पर कब्ज़ा कर लिया था। इस्राईल स्थिति के आंकलन में वह ग़लती नहीं करेगा जो वह इससे पहले कर चुका है। MM

टैग्स