Mar ०८, २०२१ ०७:४९ Asia/Kolkata
  • यमन संकट के हल के लिए ईरान का सुझाव, यमन ने की सराहना

यमन की राष्ट्रयीय एकता सरकार ने इस देश पर सऊदी अरब के हमलों से शुरू हुए संकट के संबंध में इस्लामी गणतंत्र ईरान की सैद्धांतिक नीति की सराहना की है।

यमन की राष्ट्रीय एकता सरकार के विदेश मंत्री हेशाम शरफ़ अब्दुल्लाह और सनआ में ईरानी राजदूत हसन इयरलू के बीच रविवार की रात हुयी मुलाक़ात में दोनों देशों के संबंधों, इसे मज़बूत बनाने और विभिन्न क्षेत्रों में  इसे बढ़ाने के मार्गों की समीक्षा हुयी।

इस मुलाक़ात में यमन के विदेश मंत्री ने कहाः यमन संकट का सैन्य रास्ते से हल नहीं निकल सकता, इसका सिर्फ़ शांतिपूर्ण राजनैतिक हल है। ऐसा मज़बूत राजनैतिक हल जिससे यमनी जनता की ज़रूरतें पूरी हो सकें।

यमनी विदेश मंत्री ने इस देश के संकट के हल के लिए ईरानी विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद ज़रीफ़ की ओर से अप्रैल 2015 में ही पेश की गयी योजना का ज़िक्र किया, जिसमें उन्होंने यमन पर हमले रूकने और इस देश में राजनैतिक हल की प्राप्ति की बात कही थी। इसी तरह यमनी विदेश मंत्री ने योरोपीय संसद के हालिया फ़ैसले को भी सराहते हुए कहा कि इन दोनों सुझावों पर यमन में शांति की बुनियाद रखी जा सकती है ताकि यमन की रक्षा के साथ साथ यमनियों को उनके सभी अधिकार मिल सके।

हेशाम शरफ़ ने कहा कि यमन में शांति झूठे वादों से नहीं आ सकती, बल्कि इसका हल यमन की क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा और यमनियों के फ़ैसलों में हस्तक्षेप न होने की यमनी राष्ट्र की मांगों को पूरा करने में निहित है।

इस मुलाक़ात में इस्लामी गणतंत्र ईरान के राजदूत ने यमन पर हमले रुकने और इस देश की नाकाबंदी पूरी तरह ख़त्म होने की मांग की। इसी तरह उन्होंने यमन में शांतिपूर्ण राजनैतिक हल के प्रति ईरान का समर्थन जारी रहने पर ताकीद की। (MAQ/N)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स