Apr ०९, २०२१ १२:०३ Asia/Kolkata
  • यमन से बड़ी ख़बरः सऊदी व इमाराती गठजोड़ ने मआरिब से अपने भारी हथियार बाहर निकालने शुरू कर दिए

यमन पर हमला करने वाले सऊदी-इमाराती गठजोड़ ने मआरिब प्रांत में जारी भीषण युद्ध में अपने भारी हथियारों की अनुपयोगिता को देखते हुए उन्हें बाहर निकालना शुरू कर दिया है।

सऊदी अरब ने अब मआरिब में हल्के और आधे भारी हथियार पहुंचाने शुरू कर दिए हैं जिससे लगता है कि उसके किराए के सैनिक और यमन की अपदस्थ सरकार के पिट्ठू नागरिक युद्ध शुरू करना चाहते हैं।

अलअख़बार समाचारपत्र के अनुसार सऊदी-इमाराती गठजोड़ ने कुछ दिन पहले अपने सैनिकों से कहा था कि मआरिब के आस-पास मौजूद भारी हथियारों को वहां से हटा लिया जाए। इन भारी हथियारों में अमरीका की बक्तरबंद गाड़ियां भी शामिल हैं।

सूचना के अनुसार सऊदी अरब के पिट्ठू सैनिकों ने उसका यह आदेश मानने से इन्कार कर दिया जिसके बाद रियाज़ ने यूएई के पिट्ठू सैनिकों के एक कमांडर सग़ीर बिन अज़ीज़ को यह ज़िम्मेदारी सौंपी। बिन अज़ीज़ ने सऊदी अरब के अनेक पिट्ठू सैनिक कमांडरों को गिरफ़्तार कर लिया और गठजोड़ के भारी हथियारों को मआरिब से दूर ले जाना शुरू कर दिया है।

सैन्य विशेषज्ञों का कहना है कि इन भारी हथियारों को मआरिब के मोर्चे से हटाने का यही मतलब है कि यमन युद्ध में ये हथियार सऊदी  अरब और इमारात के सैनिकों के मारे जाने में कमी लाने में विफल रहे हैं। मआरिब के युद्ध में यमनी बलों का पलड़ा बहुत भारी है और वे बड़ी तेज़ी से इसे मुक्त कराने के लिए आगे बढ़ रहे हैं। (HN)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स