Apr १०, २०२१ १८:१३ Asia/Kolkata
  • मआरिब में भारी हार से बचने के लिए सऊदी अरब का नया पैंतरा, सनआ सरकार होशियार!

यमन के मआरिब प्रांत में अपनी हार से बचने के लिए सऊदी अरब ने नई योजना पेश की है।

मीडिया सूत्रों के मुताबिक़ यमन के मआरिब प्रांत में लड़ाई तेज़ हो चुकी है और यमनी सेना तथा स्वयंसेवी बल बहुत जल्द सऊदी अरब द्वारा समर्थित लड़ाकों को हराकर इस इलाक़े पर क़ब्ज़ा करने ही वाले हैं। सऊदी अरब, सनआ की फ़ोर्सेज़ के हाथों यमन के मआरिब प्रांत की फ़त्ह को रोकने और अपनी हार से बचने के लिए, नई योजना लाया है।

अलअख़्बार के मुताबिक़, यमन के मआरिब में सऊदी फ़ोर्सेज़ को बार बार हो रही हार और इस इलाक़े पर अपना नियंत्रण कम होने पर रियाज़ की चिंता के बीच, सऊदी शासन ने यमन के मामले में स्वीडन के विशेष दूत पीटर सम्नबाय को नई योजना के साथ सनआ भेजा है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक़, रियाज़ की इस नयी योजना में मआरिब प्रांत के सभी मोर्चों पर संघर्ष विराम का सुझाव है ताकि इस तरह, स्टॉकहोम सहमति की तरह नई सहमति बन जाए जिसमें मानवीय आर्थिक और सैन्य मामलों से जुड़े अनुच्छेद हों।

स्वीडन के विशेष दूत ने ओमान में अंसारुल्लाह आंदोलन की वार्ताकार टीम से इस पेशकश के बारे में बातचीत की, लेकिन यमन की राष्ट्रीय एकता सरकार को स्टॉकहोम सहमति के हुए नाकाम तजुर्बे के मद्देनज़र, अंसारुल्लाह आंदोलन ने इस पहल के कुछ अनुच्छेदों पर एतेराज़ किया ख़ास तौर पर इस बात को लेकर कि स्वीडन के विशेष दूत किसी भी अनुच्छेद के लागू होने की गारेंटी नहीं दे सके।

सनआ सरकार का मानना है कि स्वीडन, हुदैदा की तरह कमज़ोर संघर्ष विराम की कोशिश में है, जिसका संघर्ष विराम को छोड़ एक भी अनुच्छेद लागू नहीं हुआ और सऊदी गठबंधन हर दिन हमला कर उसका उल्लंघन करता है।

दूसरी ओर यमन की राजनैतिक परिषद के सदस्य मोहम्मद अलहूसी ने देश में शांति क़ायम होने की हर कोशिश का सनआ की ओर से स्वागत किए जाने पर बल दिया।

ग़ौरतलब है कि तेल से मालामाल मआरिब प्रांत को आज़ाद कराने के लिए ऑप्रेशन का नया चरण दो महीने पहले शुरू हुआ और यमनी फ़ोर्सेज़ इसे आज़ाद कराने के लिए मआरिब शहर के क़रीब पहुंच गयी हैं। (MAQ/N)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

 

 

 

टैग्स