May ११, २०२१ १३:५६ Asia/Kolkata
  • जिन्न बोतल से बाहर आ गया, रियाज़ के मन में क्या चल रहा है? दमिश्क़ को रियाज़ की लॉलीपॉप, देश का पुनर्निमाण करेंगे लेकिन एक शर्त है ...

लेबनान के एक समाचार पत्र ने लिखा है कि सऊदी अरब ने सीरिया के पुनर्निर्माण में शामिल होने की पेशकश की है लेकिन इसके लिए उसने दमिश्क़ के सामने तेहरान से संबंधों पर पुनर्विचार करने की शर्त रखी है।  

फ़ार्स न्यूज़ एजेन्सी की रिपोर्ट के अनुसार पिछले सप्ताह ही गार्डियन ने रिपोर्ट दी थी कि सऊदी अरब की ख़ुफ़िया एजेन्सी के प्रमुख ख़ालिद अलहमीदान ने सीरिया युद्ध शुरू होने के बाद से पहली बार दमिश्क़ का दौरा किया और अपने सीरियाई समकक्ष से मुलाक़ात की।

लेबनानी समाचार पत्र अलअख़बार लिखता है कि अपने निकटवर्ती घटक अमरीका से निरंतर निराश होने के बाद रियाज़, क्षेत्र विशेषकर ईरान और प्रतिरोध के मोर्चे में ईरान के घटकों के बारे में अपनी नीतियों पर पुनर्विचार करने पर मजबूर हुआ है।

समाचार पत्र लिखता है कि लेकिन विरोधाभास यह है कि रियाज़ की यह कोशिशें, उन्हीं ग़लत शर्तों के साथ है, इसका अर्थ यह है कि सीरिया सरकार जो इस समय आर्थिक घेराव का सामना कर रही है, आर्थिक समर्थन हासिल करने या पुनर्निमाण के वादे से तेहरान से अपने संबंधों को पुनर्विचार करने पर मजबूर हो जाएगी।

अलअख़बार ने रिपोर्ट दी है कि सऊदी अरब ने इन ख़बरों को झूठ क़रार दिया है लेकिन पूरी तरह से ख़बरों का खंडन नहीं किया। यह समाचार पत्र अपने जानकार सूत्रों के हवाले से लिखता है कि सऊदी अरब की इस प्रतिक्रिया का कारण यह है कि जिस व्यक्ति ने सीरिया की यात्रा की वह ख़ालिद अलहमीदान नहीं था बल्कि दूसरा व्यक्ति था।

इस रिपोर्ट में आया है कि बहुत के कारण है जिनकी वजह से सऊदी अरब, सीरिया से निकट होने की कोशिश कर रहा है और इनमें सबसे महत्वपूर्ण कारण क्षेत्र में अमरीका विशेषकर जो बाइडन के सत्ता में आने के बाद रियाज़ की निराशा है।

अलअख़बार का कहना है कि फ़ार्स की खाड़ी के देशों की राजधानियों की नज़र में सीरिया के साथ संबंध की क़ीमत, तेहरान के साथ दमिश्क़ के संबंधों के तरीक़े में बदलाव है लेकिन सीरिया के राष्ट्रपति बश्शार असद ईरान के साथ संबंधों को सीमित करने का इरादा नहीं रखते हैं। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स