Jun २३, २०२१ १७:५९ Asia/Kolkata

काबुल सरकार का कहना है कि तालेबान का मनोवैज्ञानिक युद्ध और कुछ लोगों की मध्यस्थता की वजह से कुछ सैन्य ठिकाने बिना किसी झड़प के तालेबान के नियंत्रण में चले गये।

इन्हीं मध्यस्थों में से कुछ को कल ही सरकार ने कुन्दूज़ से गिरफ़्तार किया, तालेबान ने आज एलान किया है कि पिछले 24 घंटे के दौरान ग़ज़्नी प्रांत के आबबंद शहर, बदख़्शां प्रांत के ख़ाश और पकतीका प्रांत के पतान शहरों पर तालेबान का पूरी तरह नियंत्रण हो गया है, सरकार का कहना है कि इसी अवधि में अफ़ग़ान सेना ने अनेक बग़लान सहित कई प्रांतों में तालेबान के विरुद्ध आप्रेशन किया है।

हम अफ़ग़ानिस्तान की सज्जन जनता पर भरोसा करते हैं और उनकी रक्षा करने संकल्प रखते हैं। अफ़ग़ानिस्तान के रक्षामंत्रालय ने आज एलान किया कि पिछले 24 घंटे के दौरान केवल हेलमंद प्रांत में 50 तालेबान मारे गये, दोनों ही पक्ष एक दूसरे के दावों की पुष्टि नहीं करते, लेकिन इन दिनों अफ़ग़ान सरकार ने तालेबान के प्रोपेगैंडा वार से मुक़ाबला करने पर ध्यान केन्द्रित कर रखा है, सरकार जनता और सेना के मनोबल को ऊंचा रखने की कोशिश कर रही है।

 मैं एक बार फिर बल देकर कहते हैं कि किसी भी इलाक़े में तालेबान ज़्यादा दिन तक टिक नहीं सकते, आपने ख़बरों में सुना और पढ़ा कि फ़लां इलाक़े को आज़ाद करा लिया, अमुक क्षेत्र पर दोबारा नियंत्रण कर लिया, तालेबान के पास जितने इलाक़े हैं सब पर हम दोबारा नियंत्रण करेंगे।

 शहरों पर तालेबान के नियंत्रण और तालेबान के प्रोपेगैंडा वार के साथ ही तालेबान से मुक़ाबले के लिए विशेषकर उत्तरी अफ़ग़ानिस्तान में बनने वाले स्वयं सेवी बलों की संख्या में वृद्धि हो रही है, अफ़ग़ानिस्तान में हालिया दिनों में झड़पों में वृद्धि हुई है जिसकी वजह से इस देश में दसियों हज़ार लोग बेघर हुए हैं जबकि कुछ लोग देश में अशांति की नई लहर के बारे में भी बातें कर रहे हैं। (AK)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स