Jul २२, २०२१ १२:५० Asia/Kolkata
  • अंततः अमेरिका ने हार मान ही ली

अफ़ग़ानिस्तान की समाचार एजेन्सी आवा की रिपोर्ट के अनुसार जो अमेरिकी सैनिक अफ़ग़ानिस्तान में मौजूद थे उन्होंने स्वीकार किया है कि 20 वर्षों तक अफ़ग़ानिस्तान में मौजूद रहने के बावजूद वे तालेबान गुट का अंत न कर सके और अफ़ग़ानिस्तान में पराजित हो गये।

प्राप्त जानकारी के अनुसार अफ़ग़ानिस्तान में अमेरिकी और उसके घटक साढ़े तीन हज़ार से अधिक सैनिक मारे गये हैं।

इसी प्रकार अफ़ग़ानिस्तान में इस अवधि में 47 हज़ार से अधिक आम नागरिक और कम से कम 66 अफ़ग़ान सैनिक मारे गये हैं जबकि 27 लाख से अधिक लोग बेघर हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि अमेरिका और उसके घटकों ने आतंकवाद से मुकाबला करने और अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापित करने के बहाने वर्ष 2001 में इस देश पर सैन्य हमला करके उसका अतिग्रहण कर लिया था जो लगभग 20 वर्षों तक जारी रहा और अब अमेरिकी और विदेशी सैनिक ऐसी स्थिति में अफ़ग़ानिस्तान से जा रहे हैं और अधिकांश विदेशी सैनिक जा चुके हैं जबकि अफ़ग़ानिस्तान से न तो आतंकवाद का सफाया हुआ और न ही इस देश में शांति स्थापित हो पायी।

यही नहीं न केवल शांति व सुरक्षा स्थापित नहीं हो पायी है बल्कि मादक पदार्थों की खेती और उसकी तस्करी में भी कई गुना की वृद्धि हो गयी है। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स