Jul २२, २०२१ १८:५९ Asia/Kolkata
  • रूस और अमरीका के बीच टकराव की स्थिति को लेकर मास्को की चेतावनी

मास्को ने चेतावनी दी है कि वाशिंगटन के साथ उसके संबंध, एक ख़तरनाक टकराव की हद तक पहुंचते जा रहे हैं।

रूसी विदेश मंत्री सरगेई लारोव की अध्यक्षता में आयोजित हुई विदेश मंत्रालयों के शीर्ष अधिकारियों की बैठक में अमरीका के साथ रूस के वर्तमान संबंधों को लेकर चर्चा हुई है।

चर्चा के दौरान, इस बिंदू पर ज़ोर दिया गया कि वाशिंगटन की ग़लत और उकसाने वाली नीतियों की वजह से द्विपक्षीय संबंध एक ख़तरनाक टकराव तक पहुंच चुके हैं।

रूसी मंत्रालय ने चेतावनी दी कि मास्को पहले से ही वाशिंगटन के ख़िलाफ़ संघर्ष कर रहा है, और अगर वह इस टकराव को हवा देता है तो मास्को के प्रतिरोध में भी अधिक तेज़ी आएगी।

मंत्रालय का कहना थाः अमरीका अपने सहयोगियों के साथ मिलकर रूस पर अभूतपूर्व दबाव बनाने का प्रयास कर रहा है और वह मास्को के साथ गतिरोध के लिए एक मज़बूत वैचारिक मतभेद पेश करता है। अंतरराष्ट्रीय क़ानून का खुला उल्लंघन करने वाली वाशिंगटन की इस नीति के ख़िलाफ़ रूस अपने वैध हितों की रक्षा के लिए डटा रहेगा और किसी भी तरह से पीछे नहीं हटेगा।

इससे ठीक एक दिन पहले अमरीका में रूस के राजदूत एंटनी एंटोनोव ने एक इंटरव्यू में कहा था कि रूस और अमरीका के बीच, विश्वास की कमी है।

एंटोनोव का कहना थाः मैं वह दिन तलाश करने की कोशिश कर रहा हूं जब रूस, अमरीका का दुश्मन या प्रतिद्वंद्वी बन गया था, और यह कहना मुश्किल है कि ऐसा कब हुआ था। मुझे लगता है कि ऐसा शायद 10 साल पहले हुआ था, लेकिन नहीं जब यूक्रेन के संकट की शुरूआत हुई थी।    

अमरीका और रूस, सीरिया संकट, साइबर सुरक्षा और यूक्रेन जैसे कई मुद्दों पर ख़ुद को एक दूसरे के मुक़ाबले में पाते हैं।

बाइडन ने बुधवार को सीएनएन टाउन हॉल में दावा किया था कि एक दशक पहले यूएस-रूस तनाव की शुरूआत में ओबामा प्रशासन के उप राष्ट्रपति के रूप में जब उन्होंने रूसी नेता से मुलाक़ात की थी, तो पहली बार उन्हें यह अहसास हुआ था कि वह आज़ाद दुनिया के नेता हैं।

बाइडन का कहना थाः वह जानतें हैं कि मैं कौन हूं। और मुझे पता है कि वह कौन हैं। msm

टैग्स