Jul २३, २०२१ १८:३८ Asia/Kolkata
  • कश्मीरी लोगों की क़ुर्बानियां व्यर्थ नहीं जायेंगी, इमरान ख़ान

इमरान ख़ान ने दो जनमत संग्रह कराये जाने का संकेत दे दिया है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने दो जनमत संग्रह कराये जाने का संकेत देते हुए कहा है कि पहले जनमत संग्रह में कश्मीरी, पाकिस्तान या भारत के साथ रहने का फैसला करेंगे जबकि हमारी सरकार में होने वाले दूसरे जनमत संग्रह में वह पाकिस्तान के साथ रहने या स्वतंत्र राज्य की स्थापना के बारे में फ़ैसला करेंगे।

इमरान ख़ान ने कहा कि मेरा ईमान है कि कश्मीरी लोगों की कुर्बानियां व्यर्थ नहीं जायेंगी, यह बहुत पुरानी कोशिश है और वह अपने अधिकारों के लिए बार बार खड़े हुए हैं।

उन्होंने कहा कि चुनाव में धांधली का सिलसिला आरंभ हो गया है, मुस्लिम लीग नून ने आज तक कोई चीज़ ईमानदारी से नहीं की और वह अब से सक्रिय हो गयें हैं कि धांधली होगी।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने सवालिया अंदाज में कहा कि सरकार आपकी, अधिकारी आपके, चुनाव आयुक्त आपकी पसंद का और धांधली हम करेंगे? उन्होंने कहा कि भारत पाकिस्तानियों और कश्मीरियों पर अत्याचार कर रहा था और नवाज़ शरीफ़ भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को शादी में भाग लेने के लिए निमंत्रण दे रहे थे और भारत जाते हैं तो हुर्रियत कांफ्रेन्स के नेताओं से मुलाकात नहीं करते हैं ताकि मोदी सरकार नाराज़ न हो जाये।

उन्होंने कहा कि पीपल्ज़ पार्टी की तो बात ही न करें, पूर्व राष्ट्रपति आसिफ़ अली ज़रदारी को पैसे गिनने से समय मिलता तो कश्मीर की बात करते। उन्होंने कश्मीरी नेताओं को संबोधित करते हुए कहा कि वे हिम्मत न हारें, हम उनके साथ खड़े हैं और हर मुश्किल में साथ खड़े रहेंगे। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

 

टैग्स