Jul २७, २०२१ ०९:५४ Asia/Kolkata
  • वार्ता की मेज़ पर चीन ने अमेरिका को दी चेतावनी, वॉशिंग्टन उपदेश देना बंद करे

अमेरिकी अहंकार को लेकर चीन के विदेश मंत्री ने आलोचनात्मक टिप्पणी करते हुए कहा है कि हमे उम्मीद है कि अमेरिकी पक्ष उपदेश देना बंद कर देगा और एक तर्कसंगत और व्यावहारिक नीति पर लौट आएगा।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक़ चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने पूर्वी चीन के तटीय शहर तियानजिन में अमेरिकी उप विदेश मंत्री वेंडी शेरमेन के साथ बैठक में इस बात पर बल दिया कि दोनों देशों को अपने आपसी मतभेदों को बेहतर ढंग से निपटाना चाहिए। वांग यी ने चेतावनी दी कि अमेरिका को चीन की प्रगति में बाधा डालने के अपनी अमेरिकी प्रयासों रोक देना चाहिए क्योंकि इस काम में उसको केवल पराजय ही हाथ लगेगी। चीनी विदेश मंत्री ने तथाकथित मानवाधिकारों के मुद्दे को उठाकर चीन की संप्रभुता का उल्लंघन करने के ख़िलाफ़ भी अमेरिका को भी चेताते हुए वॉशिंग्टन से मांग की कि वह बीजिंग पर लगाए गए प्रतिबंधों और सीमित्ताओं विशेषकर प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के क्षेत्र में, समाप्त करे।

इस मौक़े पर चीनी उप विदेश मंत्री शेई फेंग ने अमेरिकी उप विदेश मंत्री वेंडी शेरमेन के साथ मुलाक़ात में कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका को  बीजिंग को एक काल्पनिक दुश्मन मानना ​​बंद कर देना चाहिए। साथ ही उन्होंने अमेरिका से अपनी अत्यधिक पथभ्रष्ट मानसिकता और ख़तरनाक नीति को बदलने की अपील की। ग़ौरलतब है कि छह माह पूर्व जो बाइडन के अमेरिका में राष्ट्रपति पद संभालने के बाद वेंडी शेरमेन चीन की यात्रा करने वाली सबसे ऊंचे रैंक की अमेरिकी अधिकारी हैं। जानकारों का मानना है कि शेरमेन की चीन यात्रा का उद्देश्य अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच अक्टूबर महीने में इटली की राजधानी रोम में जी-20 शिखर सम्मेलन में होने वाली संभावित मुलाक़ात के लिए मार्ग प्रशस्त करना है। अमेरिकी उप विदेश मंत्री वेंडी शेरमेन रविवार को दो दिवसीय चीन के दौरे पर पहुंची हैं। अमेरिका के उप विदेश मंत्री ने चीन का दौरा करने से पहले जापान, दक्षिण कोरिया और मंगोलिया की यात्रा की थी। (RZ)

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स