Jul २९, २०२१ ०१:५६ Asia/Kolkata
  • शैख़ ज़कज़की और उनकी पत्नी को आज़ाद कर दिया गया

नाइजीरिया के इस्लामी आंदोलन के नेता शैख़ इब्राहीम ज़कज़की और उनकी पत्नी को न्यायालय ने बरी करार देकर आज़ाद कर दिया है।

समाचार एजेन्सी इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार नाइजीरिया के कादूना प्रांत की अदालत में लगभग आठ घंटों तक सुनवाई के बाद अदालत ने शैख़ ज़कज़की पर लगे आरोपों को रद्द कर दिया जबकि श़ैख ज़क़ज़की के कार्यालय ने बताया है कि कादूना की अदालत ने श़ैख ज़क़ज़की और उनकी पत्नी को समस्त आरोपों से बरी करते हुए उन्हें आज़ाद करने का आदेश जारी कर दिया है।

श़ैख ज़क़ज़की के कार्यालय ने बताया है कि शैख़ ज़कज़की और उनकी पत्नी को शीघ्र ही आज़ाद कर दिया जायेगा। श़ैख ज़क़ज़की के कार्यालय ने नाइजीरियाई सरकार की ओर से दी जाने वाली प्रताड़ना के मुकाबले में इस आदेश को एक बड़ी कामयाबी बताया है। 

शैख़ ज़कज़की पर कानून व्यवस्था में विघ्न उत्पन्न करने और ग़ैर कानूनी तौर एकत्रित होने का आरोप था।

दिसंबर 2015 में नाइजीरिया की पुलिस और सेना ने कादूना प्रांत के ज़ारिया शहर में “हुसैनिया बक़ियतुल्लाह” नामक इमाम बारगाह और शियों के नेता शैख़ ज़कज़की के मकान पर हमला करके उन्हें, उनकी धर्मपत्नी ज़ीनत इब्राहीम और उनके एक बेटे को गिरफ्तार कर लिया था।

उस हमले में नाइजीरिया के सैकड़ों शिया मुसलमान शहीद हुए थे। कुछ संचार माध्यमों ने उस हमले में शहीद होने वालों की संख्या दो हज़ार बतायी थी जबकि शैख़ इब्राहीम ज़कज़की बुरी तरह घायल हो गये थे।

उस हमले में नाइजीरिया की सेना और पुलिस ने शैख़ ज़कज़की के तीन बेटों को भी शहीद कर दिया था। इसी प्रकार दिसंबर 2015 से एक वर्ष पहले यानी 2014 में विश्व कुद्स दिवस के अवसर पर नाइजीरिया की पुलिस ने शैख़ इब्राहीम ज़कज़की के तीन अन्य बेटों को गोलीमार कर शहीद कर दिया था।

नाइजीरिया की अदालत विभिन्न बहानों से शैख़ ज़कज़की और उनकी पत्नी को आज़ाद करने में टाल- मटोल से काम ले रही थी यहां तक कि उपचार से भी उन्हें वंचित कर रखा था।

हालिया महीनों में शैख ज़कज़की का स्वास्थ्य बहुत खराब हो गया था और मानवाधिकार के संगठनों व संस्थाओं ने बारमबार उन्हें आज़ाद किये जाने की मांग की थी। MM

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स