Jul ३१, २०२१ २२:२२ Asia/Kolkata
  • बुश सामूहिक हत्यारा है, उसकी जगह जेल है, उसे और उसकी मंडली को दंडित किया जाना चाहियेः अलजज़ीरा

अलजज़ीरा की वेबसाइट ने एक लेख प्रकाशित किया है जिसमें लेखक ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जार्ज डब्ल्यू बुश के क्रियाकलापों की कड़ी आलोचना की है।

लेखक एंड्रो मिट्रोविका ने अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बारे में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जार्ज डब्ल्यू बुश के हालिया दृष्टिकोणों की कड़ी आलोचना करते हुए लिखा है कि बुश अपना मुंह बंद करो और चले जाओ। एंड्रो मिट्रोविका ने लिखा कि बुश सामूहिक हत्यारा है, इस समय उसे हेग के अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की जेल में होना चाहिये, उसे बोस्निया के हत्यारे रात्को मिलादिच के साथ जेल में डबल बेड पर होना चाहिये, अब तक बुश को कई खंडों पर आधारित किताब लिखना चाहिये था न कि वह आज़ादी से घुमे और अफगानिस्तान की स्थिति के बारे में साक्षात्कार करे।

इसी प्रकार एंड्रो मिट्रोविका ने लिखा है कि हम सब जानते हैं कि दुनिया न्याय की जगह नहीं है। इस आधार पर अमेरिका के दूसरे समस्त राष्ट्राध्यक्षों ने देश के भीतर और बाहर अपराध किया और आज़ादी से घुम रहे हैं उसी तरह बुश को भी निश्चिंत होकर घुमना चाहिये। एंड्रो मिट्रोविका आगे लिखते हैं कि मेरी समझ में नहीं आता कि जो इंसान दो भयानक व विनाशकारी जंगों का अकेले ज़िम्मेदार हो और इन युद्धों में लाखों निर्दोष हताहत व घायल हुए वह किस तरह एक क्षण के लिए सुकून की सांस लेता और खुश रहता है।

वह आगे लिखते हैं बुश और उनके सलाहकारों ने झूठी बुनियादों के आधार पर जो विनाशकारी युद्ध किया उसके कारण कम से कम एक बार उन सब पर मुकद्दमा चलाया और उन्हें दंडित किया जाता क्योंकि दो दशकों के बाद अब उनकी मूर्खता और झूठ की वास्तविकता की पोल खुल चुकी है, लाखों लोग मारे गये और उन्हें शारीरिक व मानसिक पीड़ा पहुंची है।

एंड्रो मिट्रोविका बुश और उनकी युद्धोन्मादी टोली के अपराधों की संकेत करते हुए लिखते हैं ऐसा लगता है जैसे कुछ हुआ ही नहीं और बुश अफगानिस्तान से अमेरिकी और नैटो सैनिकों की वापसी पर अमेरिकी सरकार के फैसले पर आपत्ति जता रहे हैं और बुश ने एक साक्षात्कार में अमेरिकी व नैटो सैनिकों के निष्कासन को मात्र भूल व ग़लती बताया है। साक्षात्कार में जब अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बुश से पूछा गया कि क्या अफगानिस्तान से अमेरिकी और नैटो सैनिकों का निकलना ग़लत है तो उन्होंने कहा था कि जी! मेरे विचार में ग़लत है क्योंकि उसका परिमाण कल्पना से परे बहुत बुरा होगा और मैं इस चीज़ से दुःखी हूं। एंड्रो मिट्रोविका आगे लिखते हैं कि जो चीज़ अविश्वस्नीय प्रतीत हो रही है वह बुश का पागलपन का विचार है जो यह सोचते हैं कि इराक और अफगानिस्तान का अतिग्रहण इन दोनों देशों के लोगों के लिए मुक्तिदायक था।

बहरहाल अधिकांश लोगों का यही मानना है कि इस समय अफगानिस्तान में जो कुछ हो रहा है उसके लिए अमेरिका और पश्चिम ही ज़िम्मेदार हैं। स्रोतः अलजज़ीरा

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

 

टैग्स