Aug ०४, २०२१ १२:२० Asia/Kolkata
  • अफ़ग़ानिस्तान, तालेबान का हेलमंद की राजधानी के बड़े हिस्से पर क़ब्ज़ा

दक्षिणी अफ़ग़ानिस्तान में तालाबन की प्रगति जारी हे और उसने हेलमंद प्रांत की राजधानी के 10 से 9 ज़िलों पर क़ब्ज़ा कर लिया है।

विदेशी समाचार एजेन्सियों की रिपोर्ट के अनुसार अफ़ग़ानिस्तानी की सरकारी सेना ने अमरीका के समर्थन से लश्करगाह शहर की रक्षा के लिए हवाई बमबारी शुरु कर दी है।

हेलमंद के लिए अफ़ग़ान आर्मी के कमान्डर जनरल समी सआदत ने पत्रकार के साथ शेयर आडियो संदेश में नागरिकों पर बल दिया है कि वह तालेबान के नियंत्रण में जाने वाले क्षेत्र फ़ौरन ख़ाली कर दें किन्तु उन्होंने यह नहीं बताया कि भीषण झड़पों के बीच नागरिक ऐसा कैसे कर सकते हैं।

यह संदेश इशारा है कि और अधिक हवाई हमलों की योजना बनाई जा रही है।

जनरल समी ने अपने संदेश में नागरिकों से कहा कि मेहरबानी करके अपने घरों और आसपास के क्षेत्रों को ख़ाली कर दें और अपने परिजनों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दें, हम तालेबान को ज़िंदा नहीं छोड़ेंगे, मुझे पता है कि यह मुश्किल है लेकिन आपके भविष्य के लिए हम ऐसा करेंगे।

उन्होंने कहा कि अगर आपको कुछ दिनों के लिए बेघर होना पड़ा तो उसके लिए हम माफ़ी चाहते हैं, कृपया करके शीघ्र ही इलाक़ा ख़ाली कर दें।

लश्करगाह उन तीन प्रांतीय राजधानियों में से एक है जिन का तालेबान ने घेराव कर रखा है और उनकी सुरक्षा बलों के साथ भीषण झड़पें हो रही हैं।

अगर तालेबान ने लश्करगाह पर क़ब्ज़ा कर लिया तो यह उसकी बहुत बड़ी जीत होगी और यह कई वर्षों में पहली प्रांतीय राजधानी होगी जिस पर तालेबान ने क़ब्ज़ा किया हो।

स्थानीय लोगों का कहना है कि लड़ाई ने उन्हें घरों में बंद कर  दिया है और वह ज़रूरत की चीज़ों के लिए भी घर से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि तालेबान के लड़ाके खुल आम घूम रहे हैं और कम से कम लश्करगाह का एक ज़िला उनके नियंत्रण में है।

अब तालेबान का रुख प्रांतीय राजधानियों की तरफ़ है क्योंकि 95 प्रतिशत अमरीकी और नैटो सैनिक अफ़ग़ानिस्तान से निकल गये हैं और आख़िरी विदेशी सैनिक 31 अगस्त तक अफ़ग़ानिस्तान से निकल जाएगा। (AK)

 

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक कीजिए

हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन कीजिए

हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब कीजिए!

ट्वीटर  पर हमें फ़ालो कीजिए

टैग्स